लाइबेरिया: इबोला के चलते फ़ुटबॉल बंद

स्वास्थ्य स्टाफ़, लाइबीरिया इमेज कॉपीरइट AFP Getty Images

घातक इबोला वायरस का संक्रमण रोकने के लिए लाइबेरिया के फ़ुटबॉल संघ ने फ़ुटबॉल से जुड़ी सभी गतिविधियों पर रोक लगा दी है.

फ़ुटबॉल संघ ने कहा है कि फ़ुटबॉल में खिलाड़ी आमने-सामने एक दूसरे से संपर्क में आते हैं, जिसके चलते संक्रमण का ख़तरा हो जाता है.

ये बीमारी संक्रमित व्यक्ति के शारीरिक द्रव्यों के साथ संपर्क से फैलती है.

इबोला वायरस से संक्रमित 90 प्रतिशत तक लोगों की मौत हो जाती है. लेकिन अगर बीमारी की शुरुआत में ही इसका इलाज हो जाए, तो संक्रमित लोगों के बचने की बेहतर संभावना होती है.

पश्चिमी अफ़्रीका में इस साल फ़रवरी से अब तक इस बीमारी से 660 लोग मारे गए हैं.

सीमाए बंद

लाइबेरियाई प्रशासन ने कुछ सरकारी कर्मचारियों से तब तक घर पर रहने के लिए कहा है जब तक उन्हें बुलाया न जाए.

इनमें वित्त मंत्रालय के कर्मचारी भी शामिल हैं. पिछले सप्ताह लाइबेरियाई वित्त मंत्रालय के एक कर्मचारी की इबोला से उस वक्त मौत हो गई जब वो नाइजीरिया गया हुआ था.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption इबोला वायरस से होने वाली बीमारी संक्रमित व्यक्ति के साथ संपर्क से फैलती है.

लाइबेरिया की ज़्यादातर सीमाओं को बंद कर दिया गया है और बीमारी को फैलने से रोकने के लिए इबोला वायरस से संक्रमित लोगों को अलग रखा गया है.

राजधानी मोनरोविया में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे समेत देश में घुसने की कुछ मुख्य जगहों पर बीमारी की पहचान के लिए स्क्रीनिंग केंद्र बनाए गए हैं.

इबोला संक्रमण की शुरुआत दक्षिणी गिनी से हुई और ये लाइबेरिया और सियेरा लियोन में फैल चुका है. ये दुनिया की अब तक की सबसे घातक बीमारी है.

(बीबीसी हिंदी के क्लिक करें एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार