हमास की 'सभी सुरंगें तबाह करेगा' इसराइल

ग़ज़ा में एक सुरंग

इसराइली प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू ने कहा है कि जब तक फलस्तीनी चरमपंथी संगठन हमास की बनाई गई सभी सुरंगें तबाह नहीं हो जातीं, तब तक ग़ज़ा में इसराइल की कार्रवाई नहीं रुकेगी.

मंत्रिमंडल की एक बैठक से पहले नेतन्याहू ने कहा कि इसराइल सुरंगें ज़रूर तबाह करेगा, चाहे 'संघर्ष विराम समझौता हो या न हो'.

इससे पहले इसराइल ने अपने 16 हज़ार अतिरिक्त सैनिकों को और बुला लिया है. इसके साथ ही अब तक तैनात किए गए सैनिकों की संख्या बढ़कर 86 हज़ार हो गई है.

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक़ मौजूदा संघर्ष की वजह से ग़ज़ा में अब तक लगभग सवा चार लाख लोग विस्थापित हुए हैं.

सुरंगों से ख़तरा

इसराइल ने ग़ज़ा में 'ऑपरेशन प्रोटेक्टिव एज' नाम से सैन्य कार्रवाई आठ जुलाई को शुरू की थी. तब से अब तक कम से कम 1360 फलस्तीनी मारे गए हैं, जिनमें से ज़्यादातर आम नागरिक थे.

इस अभियान की शुरुआत में इसराइल हमास की रॉकेट छोड़ने की क्षमता पर ध्यान दे रहा था.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption इसराइल ने कहा है कि वो हमास की बनाई सभी सुरंगे तबाह करेगा.

लेकिन अब ये दायरा बढ़ गया है और इसमें इसराइल-ग़ज़ा सीमा के नीचे बनी सुरंगें भी शामिल हो गई हैं.

ग़ज़ा पर हवाई हमले शुरू करने के बाद इसराइली सेना को ग़ज़ा से इसराइल में आने वाली सुरंगों का जाल मिला था.

हमास चरमपंथियों ने इन सुरंगों से कई हमले किए हैं, जिनमें कई इसराइली सैनिकों की मौत हुई है.

इसराइल ने सुरंगों को तबाह करने के मक़सद से 17 जुलाई को ज़मीनी अभियान शुरू किया था. उसका कहना है कि किसी भी तरह के संघर्ष विराम समझौते में सुरंगों को तबाह करने का उसका हक़ शामिल रहेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार