इबोला पर काबू पाने को छह अरब की योजना

इबोला वायरस इमेज कॉपीरइट AP

इबोला वायरस से सैकड़ों लोगों के मारे जाने के बाद इस बीमारी से निपटने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन 10 करोड़ डॉलर (क़रीब छह अरब रुपए) की योजना शुरू कर रहा है.

पश्चिमी अफ़्रीकी देशों गिनी, लाइबेरिया और सियरा लियोन में गत फ़रवरी महीने में इस वायरस का हमला हुआ था.

कहीं दुनियाभर में न फैल जाए ख़तरनाक इबोला

इमेज कॉपीरइट AP

इस समस्या पर डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक मार्गरेट चान ने इन तीनों देशों के राष्ट्रपतियों से गिनी में चर्चा की थी.

डब्ल्यूएचओ का कहना है कि यदि इस बीमारी पर काबू पाना है तो और अधिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों की ज़रूरत पड़ेगी.

इतना ख़तरनाक क्यों है इबोला?

इमेज कॉपीरइट ap

इससे पहले लाइबेरिया के राष्ट्रपति एलेन जॉन्सन सरलीफ ने बीबीसी को बताया था कि बीमारी का प्रकोप विनाशकारी हो चुका है.

एलेन की सरकार ने बीमारी पर नियंत्रण के लिए तीस से साठ दिन का लक्ष्य निर्धारित किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)