ओबामाः अल-क़ायदा क़ैदियों के साथ हुई सख़्ती

बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए के निदेशक जॉन ब्रेनन का बचाव करते हुए यह बात स्वीकारी है कि अमरीका ने 9/11 की घटना के बाद कुछ क़ैदियों का उत्पीड़न किया.

उनका बयान उस वक़्त आया है जब सीनेट सीआईए के पूछताछ कार्यक्रम से जुड़ी एक रिपोर्ट जारी करने की तैयारी कर रही है.

ओबामा ने कहा, "हमने कुछ लोगों को यंत्रणा दी है. हमने कुछ ऐसा किया जो हमारे मूल्यों के ख़िलाफ़ था."

सीनेट के कंप्यूटरों की जांच

सीआईए ने तहक़ीक़ात के दौरान सीनेट के कंप्यूटरों तक की जांच की थी. ओबामा ने इस बात को स्वीकार करने के बावजूद कहा कि उन्हें ब्रेनन पर पूरा भरोसा था.

ओबामा ने पहले कहा था कि अमरीका के बाहर एक गोपनीय जगह पर सीआईए ने अल-क़ायदा क़ैदियों से पूछताछ के दौरान जो तरीक़े अपनाए वह यंत्रणा थी.

शुक्रवार को अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा कि 9/11 की घटना के बाद ऐसे हमले को रोकने के लिए ज़्यादा दबाव की वजह से अधिकारियों ने सख़्त तरीक़े अपनाए.

इमेज कॉपीरइट AFP

हालांकि ओबामा ने इस बयान के लिए जिन शब्दों का चयन किया उसकी भी आलोचना की जा रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार