चीन: 380 मरे, हज़ारों इलाक़े में फँसे

चीन भूकंप इमेज कॉपीरइट AP

चीन ने दक्षिण पश्चिम सूबे यूनान में आए शक्तिशाली भूकंप के बाद मलबे में फंसे लोगों की तलाशी के लिए 2500 सैनिकों की एक टुकड़ी भेजी है.

जबकि मृत्कों की तादाद बढ़कर 380 हो गई है. कम से कम 1800 लोग घायल हैं.

हालांकि सहायता दलों को उस जगह पर पहुंचने में बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है जिसे भूंकप का केंद्र माना जा रहा है.

बारिश और भूस्खलन की वजह से सड़कें टूट गई हैं और राहतकर्मी उनकी मरम्मत किए बग़ैर आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं.

हज़ारों अब भी फँसे हैं

हज़ारों लोग अभी भी ऐसे इलाक़ों में फंसे हुए हैं जहां किसी क़िस्म की कोई सहायता नहीं पहुंच पाई है.

इमेज कॉपीरइट AFP

एक प्रत्यक्षदर्शी का कहना था कि उसके गांव के दो तिहाई घर ढह गए हैं.

सरकार ने क्षेत्र में लाखों टेंट और बिस्तरें भेजने का इंतज़ाम किया है.

सैनिकों को लाइफ़ डिटेक्टर यंत्रों और खोदने के उपकरण मुहैया करवाए गए हैं ताकि वो मलबे में दबे लोगों का पता लगा पाएं और फिर उन्हें वहां से निकाला जा सके.

सरकारी टीवी चैनल सीसीटीवी ने कहा है कि यह पिछले 14 साल में इस प्रांत में आया सबसे शक्तिशाली भूकंप है.

1970 में युनान प्रांत में 7.7 तीव्रता का भूकंप आया था, जिसमें 15,000 से ज़्यादा लोग मारे गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार