मित्तल खरीदेंगे ब्रिटेन का पहाड़?

  • 5 अगस्त 2014
इमेज कॉपीरइट AP

भारतीय इस्पात निर्माता उद्योगपति लक्ष्मी मित्तल ने ब्रिटेन की एक मशहूर पर्वत श्रंखला खरीदने के लिए बोली लगाई है. हालांकि स्थानीय लोगों को लगता है कि इससे उनका इलाक़ा अमीरों की ऐशगाह बन जाएगा.

2850 फ़ीट ऊंचा ब्लेनकाथ्रा पर्वत कंब्रिया के लेक डिस्ट्रक्ट इलाक़े में नॉर्दर्न फ़ेल्स के ऊपर है. इसे मई में अर्ल ऑफ़ लॉन्सडेल ह्यू लोदर ने नीलामी के लिए रखा था और 18 करोड़ भारतीय रुपए की क़ीमत लगाई थी.

फ़ोर्ब्स सूची में 63वें स्थान पर मौजूद लक्ष्मी मित्तल ने ब्रिटिश मीडिया में बोली लगाने की जानकारी दी. मित्तल लग्ज़मबर्ग में आर्सेलर मित्तल कंपनी के सीईओ हैं.

लंदन में उनके पास दो बेहद क़ीमती घर हैं और ब्रिटेन की प्रीमियर लीग के हिस्से क्वींस पार्क रेंजर्स फ़ुटबॉल क्लब में उनकी 33 फ़ीसदी की भागीदारी है.

2,676 एकड़ के इस प्लॉट की नीलामी के ज़रिए मिले पैसे से अर्ल अपने पिता से विरासत में मिले क़र्ज़ का एक हिस्सा चुकाएंगे. उनके पिता की आठ साल पहले मौत हो चुकी है.

अपनी ख़ास आकृति की वजह से सैडलबैक के नाम से जाने जाने वाले इस पहाड़ को लेखक एल्फ़्रेड वेनराइट ने ‘लेकलैंड की कुछ सबसे शानदार चीज़ों’ में शुमार किया था और कवि सेम्युएल टेलर कोलरिज के लिए यह प्रेरणास्रोत रहा है.

इमेज कॉपीरइट PA

‘इंडिपेंडेंट’ अख़बार के मुताबिक़ स्थानीय निवासियों के संगठन ‘द फ़्रेंड्स ऑफ़ ब्लेककाथ्रा’ ने बेहद अमीरों से हाथों से इसे बचाने के लिए इडेन डिस्ट्रिक्ट काउंसिल में अपील की है और इस इलाक़े को सामुदायिक क्षेत्र घोषित करने की मांग की है. संगठन ने नीलामी से बचाने के लिए अर्ल को क़रीब तीन करोड़ आठ लाख भारतीय रुपए देने का ऑफ़र भी दिया है, जो अर्ल की मांग से कम है.

मगर शुक्रवार को सेलिंग एजेंट एच एंड एच लैंड एंड प्रॉपर्टी के डायरेक्टर जॉन रॉबसन ने कहा कि ‘द फ़्रेंड्स ऑफ़ ब्लेनकाथ्रा’ अपनी कोशिश में नाकाम रहे हैं. उन्होंने अपने बयान में कहा कि लॉन्सडेल्स ने एक अज्ञात पार्टी का ऑफ़र कुबूल कर लिया है जिसने पहाड़ की ज़्यादा क़ीमत लगाई है.

एजेंट ने अपने बयान में कहा है, ‘’फ़ैसले पर पहुंचने से पहले हमने द फ़्रेंड्स ऑफ़ ब्लेनकाथ्रा के नुमाइंदों से बातचीत की.. ब्लेनकाथ्रा की बिक्री का कारण सातवें अर्ल ऑफ़ लॉन्सडेल्स की 2006 में मौत के बाद मिले विरासत कर से निजात पाना है.’’

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार