मलिकी का शक्ति प्रदर्शन, सैनिक सड़कों पर

  • 11 अगस्त 2014
नूरी अल मलिकी Image copyright Reuters

इराक़ी प्रधानमंत्री नूरी अल मलिकी के वफ़ादार सुरक्षा बलों ने राजधानी बग़दाद की मुख्य जगहों पर कब्ज़ा कर लिया है.

इससे पहले मलिकी ने सरकारी टेलीविज़न पर राष्ट्रपति की आलोचना की थी.

मलिकी तीसरा कार्यकाल चाह रहे हैं, लेकिन उत्तर में जिहादी विद्रोह के बीच उनके पद से हटने की मांग हो रही है.

अमरीका ने राष्ट्रपति फ़ौद मासूम के समर्थन में एक बयान जारी किया है. इससे पहले वो इराक़ में एक संयुक्त सरकार बनाने की अपील कर चुका है.

इराक़ी कुर्द पहले ही इस्लामी चरमपंथियों को हराने के लिए अंतरराष्ट्रीय सैन्य सहायता की अपील कर चुके हैं.

और अमरीका इराक़ी कुर्दिस्तान की राजधानी इरबिल के पास इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों पर पहले ही चार बार हवाई हमले कर चुका है.

एक कुर्द अधिकारी ने कहा कि हालिया अमरीकी हवाई हमले ग्वेर और माखमूर कस्बों पर कब्ज़ा करने में मददगार साबित हुए हैं.

संवैधानिक 'तख़्तापलट'

Image copyright

टेलीविज़न पर अपने संबोधन में मलिकी ने कहा कि संवैधानिक नियमों के उल्लंघन के लिए वह राष्ट्रपति मासूम को अदालत में खींचने की मंशा बना चुके हैं.

गत अप्रैल में हुए चुनाव में मलिकी के गठबंधन ने अधिकांश सीटें जीत ली थीं लेकिन संसद उन्हें तीसरा कार्यकाल देने पर राजी नहीं हुई और राष्ट्रपति मासूम ने इस मामले में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया था.

मलिकी ने कहा, ''यह रवैया संवैधानिक और देश में राजनीतिक प्रक्रिया के तख़्तापलट जैसा है. राष्ट्रपति की ओर से जानबूझ कर किए गए संवैधानिक नियमों के उल्लंघन के गंभीर परिणाम होंगे.''

उनके संबोधन के कुछ ही घंटे बाद मलिकी के वफ़ादार शिया लड़ाके और सुरक्षा बलों ने बगदाद के मुख्य केंद्रों को अपने कब्ज़े में ले लिया. हिंसा की अभी तक कोई ख़बर नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार