लाहौर में बसा है 'एक भारत', पान है पहचान

पाकिस्तान, लाहौर, पान गली इमेज कॉपीरइट SHIRAZ HASSAN

पाकिस्तान के शहर लाहौर में एक गली है जिसका नाम है पान गली. पान गली को मिनी इंडिया भी कहा जाता है.

यहां भारतीय पान, साड़ियां और गहने मिलते हैं जिन्हें ख़रीदने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं.

यहां बिकने वाली बनारसी साड़ियों का तो कहना ही क्या जो महिलाओं को ख़ूब पसंद आती हैं.

पढ़िए पूरी रिपोर्ट विस्तार से

पाकिस्तान के लाहौर के अनारकली बाज़ार और सर्कुलर रोड के संगम पर ही है पान गली.

यहां बिकने वाला भारतीय सामान इस बाज़ार की ख़ास पहचान है. यही कारण है कि भारतीय सामान की ख़रीदारी के लिए लोग इस बाज़ार का रुख़ करते हैं.

पान गली अपनी तरह का एक अलग बाज़ार है जहां चारों ओर फैली पान और सौंफ की सुगंध, सुपारी, कत्थे और केसर की बोरियां, रंग-बिरंगी साड़ियां और चकमते-दमकते गहने ग्राहकों का ध्यान अपनी ओर खींचते हैं.

गहने-साड़ियां पसंद

इस बाज़ार को पान गली इसलिए कहा जाता है क्योंकि विभाजन से पहले यहां लाहौर में पान की सबसे बड़ी मंडी थी, जहां भारत के अलग-अलग इलाक़ों से पान के पत्ते लाकर बेचे जाते थे.

विभाजन के बाद भी यह सिलसिला जारी रहा और अब तक जारी है. लेकिन पान गली में अब सिर्फ़ पान ही नहीं बिकता. भारत के प्रसिद्ध ब्रांड के कॉस्मेटिक्स और हर्बल उत्पाद, नारियल का तेल, कपड़ा और ज़ेवरात भी यहां के लोग बेहद पसंद करते हैं.

इमेज कॉपीरइट SHIRAZ HASAN

पान गली में भारतीय कपड़ा और ख़ास तौर पर रंग-बिरंगी चुनरियां और बनारसी साड़ियां लोगों के आकर्षण का केंद्र हैं.

कपड़े की दुकान के मालिक नदीम ख़ान कहते हैं, ''औरतें और लड़कियां इंडियन ड्रामों और फ़िल्मों में डिज़ाइन देखती हैं और फिर यहां आकर वैसे ही डिज़ाइन के कपड़ों की मांग करती हैं.''

'बेहतर संबंध से व्यापार सुधरा'

इमेज कॉपीरइट SHIRAZ HASAN

एक और दुकानदार अक़ील अहमद का कहना है कि आज से कुछ साल पहले जब भारत और पाकिस्तान के संबंध बेहतरी की ओर जा रहे थे तो व्यापार में सुधार हुआ था.

वे कहते हैं, "अगर दोनों देशों के बीच वाघा के रास्ते व्यापार हो तो कई चीजें सस्ते दामों में मिल सकती हैं."

इमेज कॉपीरइट SHIRAZ HASSAN

अक़ील अहमद का कहना है कि बाज़ार में सबसे ज़्यादा भारतीय गुटखे की मांग है. यहां कई प्रकार के भारतीय गुटखे मिलते हैं.

हालांकि कुछ लोगों का यह भी कहना है कि पान गली में अब कुछ दुकानदार कपड़ा भारत का कहकर बेचते हैं क्योंकि उन्हें मालूम है कि भारत का नाम बिकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार