कश्मीरी नेताओं से मुलाक़ात पर स्पष्टीकरण

नवाज़ शरीफ़ इमेज कॉपीरइट Reuters

एक सप्ताह बाद भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाली विदेश सचिवों की बैठक रद्द होने के बाद पाकिस्तान ने कहा है कि कश्मीरी नेताओं से पाकिस्तानी उच्चायुक्त की मुलाक़ात में कुछ भी नया नहीं है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है, ''भारत के विदेश मंत्रालय ने भारत में मौजूद हमारे उच्चायुक्त को बैठक रद्द किए जाने की सूचना दी है. इसमें कश्मीरी नेताओं के साथ उच्चायुक्त की मुलाक़ात पर आपत्ति जताई गई है.''

विज्ञप्ति के अनुसार, ''पाकिस्तान और भारत के बीच बातचीत से पहले कश्मीरी नेताओं के साथ बैठक करने की लंबे समय से परंपरा रही है, ताकि कश्मीर मुद्दे पर अर्थपूर्ण बातचीत की राह बनाई जा सके.''

इसमें कहा गया है, ''भारत के फैसले से, बेहतर पड़ोसी रिश्ते बनाने की हमारे नेतृत्व की कोशिशों को झटका लगा है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने स्पष्ट रूप से शांति और विकास का विज़न पेश किया था. और इसी कारण उन्होंने शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए भारतीय प्रधानमंत्री का न्यौता स्वीकार किया था. दोनों प्रधानमंत्रियों की सहमति के बाद ही विदेशी सचिवों की बैठक तय की गई थी.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार