इबोला की वजह से लाइबेरिया में कर्फ़्यू

लाइबेरिया इमेज कॉपीरइट Reuters

इबोला वायरस से जूझ रहे लाइबेरिया की राजधानी मोनरोविया की एक झुग्गी बस्ती को अलग-थलग कर वहां रात का कर्फ्यू लगाया गया है.

राष्ट्रपति एलन ज़ॉनसन सरलीफ़ ने कहा कि वेस्ट प्वाइंट झुग्गी बस्ती में पूर रात कर्फ्यू जारी रहेगा.

घातक संक्रमण

(पढ़ें : इबोला पर क़ाबू पाने में लगेंगे छह महीने)

इबोला के संक्रमण से पश्चिम अफ्रीका में इस साल अब तक 1229 लोगों की मौत हो चुकी है.

गिनी से शुरू होकर यह वायरस लाइबेरिया, सिएरा लियोन और नाइजीरिया तक पहुंच चुका है.

इबोला वायरस से पीड़ित व्यक्ति में फ़्लू जैसे लक्षण दिखाई देते हैं. इसकी वजह से आंखों और मसूड़ों से ख़ून आता है और आतंरिक रक्तस्राव भी हो सकता है.

शरीर के अंग काम करना बंद कर सकते हैं.

इससे बचने के लिए अभी तक न कोई टीका बना है और न इसका किसी अन्य तरह का इलाज है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार