'अमरीकी पत्रकार के क़त्ल' का वीडियो जारी

इमेज कॉपीरइट AFP

चरमपंथी समूह इस्लामिक स्टेट की ओर से एक ऑनलाइन वीडियो जारी किया गया है जिसमें साल 2012 से लापता अमरीकी पत्रकार जेम्स फॉली का 'क़त्ल करते हुए दिखाया गया' है.

आईएस ने कहा है कि इराक़ में अमरीकी हवाई हमलों के जवाब में यह कार्रवाई की गई है.

फॉली की मां डायने ने फ़ेसबुक पर कहा है कि "उसने सीरियाई लोगों की मुश्किलों को दुनिया के सामने लाने के लिए अपना जीवन दे दिया, मुझे गर्व है."

वीडियो में एक अन्य अमरीकी पत्रकार भी क़ैदी के तौर पर नज़र आ रहा है.

फॉली की मां ने उनके बारे में संदेश दिया कि "जिम की तरह वे भी निर्दोष हैं. इन लोगों का इराक़, सीरिया या फिर दुनिया के किसी भी देश को लेकर अमरीकी नीति पर कोई नियंत्रण नहीं है."

अमरीका को संदेश

व्हाइट हाउस ने कहा है कि अगर ये वीडियो वास्तविक है तो अमरीकी प्रशासन इससे काफी व्यथित है. अमरीकी अधिकारी वीडियो की सत्यता की जांच कर रहे हैं.

फॉली ने अमरीकी अख़बार ग्लोबल पोस्ट और फ्रांस की समाचार एजेंसी एएफपी सहित कई मीडिया समूहों के लिए मध्य पूर्व एशिया की काफी रिपोर्टिंग की है.

इमेज कॉपीरइट AFP

जारी वीडियो का शीर्षक है - अमरीका को संदेश. वीडियो में एक शख़्स जेम्स फॉली के तौर पर नज़र आता है और उसकी हत्या करने वाला शख़्स ख़ुद को इस्लामिक स्टेट का सदस्य बताता है.

साल 2012 में बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में फॉली ने बताया था, "मैं युद्ध क्षेत्र की अनसुनी कहानियों को दुनिया के सामने लाना चाहता हूं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार