पाकिस्तान: क़ादरी समर्थकों ने संसद घेरा

ताहिर-उल क़ादरी इमेज कॉपीरइट

पाकिस्तान के सरकार विरोधी धर्मगुरु ताहिर उल क़ादरी ने प्रदर्शनकारियों से संसद को जाने वाले सभी रास्ते बंद कर देने को कहा है.

अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए क़ादरी ने कहा, ''आप किसी को भी अंदर जाने या बाहर आने नहीं देंगे...एक मच्छर को भी नहीं....प्रधानमंत्री को भी नहीं.''

हालांकि उन्होंने समर्थकों से 'रेड ज़ोन' की इमारतों में घुसने से मना किया है.

उन्होंने एक दिन पहले कहा था कि बुधवार शाम को समर्थकों समेत वह जनसंसद लगाएंगे.

क़ादरी और तहरीक़-ए-इंसाफ़ पार्टी के नेता इमरान ख़ान प्रधानमंत्री नवाज शरीफ़ के इस्तीफ़े की मांग कर रहे हैं.

मंगलवार को प्रदर्शनकारी कड़ी सुरक्षा वाले 'रेड ज़ोन' में प्रवेश कर गए थे. सरकारी इमारतों के अलावा वहां विदेशी दूतावास भी हैं.

संसद के क़रीब प्रदर्शनकारी

इमेज कॉपीरइट AFP

बीबीसी संवाददाता एम इलियास ख़ान ने बताया कि इस समय संसद का सत्र चल रहा है और दर्जनों सांसद के साथ प्रधानमंत्री अंदर मौजूद हैं.

संसद और अन्य इमारतों में सैकड़ों सरकारी कर्मचारी भी हैं.

क़ादरी के संबोधन के बाद उनके समर्थक पुलिस की चेतावनी के बावजूद संसद के और नज़दीक पहुंच गए.

बीबीसी संवददाता के मुताबिक़, अभी तक संघर्ष के आसार नहीं बने हैं.

रेड ज़ोन की सुरक्षा सेना के हाथ में है. मंगलवार को ही सेना के प्रवक्ता आसिम बाजवा ने सरकार से प्रदर्शनकारियों के साथ बातचीत करने के लिए कहा था.

आरोप

इमेज कॉपीरइट AP

इस्लामाबाद में धरना दे रहे दोनों विपक्षी समूह लाहौर से आज़ादी मार्च लेकर निकले थे.

दोनों प्रदर्शनकारी नेता सरकार बदलना चाहते हैं. इमरान ख़ान ने नवाज़ शरीफ़ पर 2013 के आम चुनाव में धांधली करने का आरोप लगाया है.

जबकि नवाज़ सरकार ने प्रदर्शनकारियों पर लोकतंत्र को राह से उतारने की कोशिश का आरोप लगाया है.

सरकार ने प्रदर्शनकारी नेताओं के सामने बातचीत का प्रस्ताव भी रखा लेकिन इसे अस्वीकार कर दिया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार