इस्तीफ़ा दिया तो पाकिस्तान में संकट : नवाज़ शरीफ़

इमेज कॉपीरइट AP

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने इस्तीफे को मांग को अस्वीकार करते हुए कहा है कि उनके इस्तीफा देने से देश में संकट पैदा हो जाएगा.

प्रधानमंत्री ने वरिष्ठ पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि देश मौजूदा स्थिति बर्दाश्त नहीं कर सकता और इससे देश को नुकसान पहुंच सकता है.

प्रधानमंत्री का कहना है कि सरकार इस राजनीतिक मुद्दे को वार्ता के माध्यम से हल करना चाहती है. उनका कहना था, 'सरकार धरना देने वालों के खिलाफ बल प्रयोग नहीं करेगी और सरकार ऐसा करने का सोच भी नहीं सकती.'

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ के प्रमुख इमरान खान ने कहा है कि 'दिल कहता है कि दो दिन में फैसला हो जाएगा. दिल कहता है कि इस सप्ताह अंपायर की उंगली उठ जाएगी.

वहीं पाकिस्तान की संसद में पारित हुए एक प्रस्ताव में उनकी इस मांग को असंवैधानिक बताया गया है.

सुरक्षा कड़ी

इमेज कॉपीरइट EPA

इस बीच, धरना स्थल से दो किलोमीटर की दूरी पर कैदियों को लाने ले जाने वाली इस्लामाबाद पुलिस की कई गाड़ियां खड़ी कर दी गई हैं.

इस्लामाबाद प्रशासन ने शहर के संवेदनशील स्थानों के पास सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है.

बीबीसी उर्दू संवाददाता आसिफ फ़ारूक़ी ने बताया कि प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर जाने वाले रास्तों पर कंटेनरों की संख्या बढ़ा दी गई है और ताकि लोग उन्हें फलांग कर आगे ना जा सकें.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार