अमरीकाः फ़र्ग्युसन से नेशनल गार्ड्स की वापसी

मिसौरी में विरोध प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका में मिसौरी प्रांत के फ़र्ग्युसन इलाक़े से नेशनल गार्ड्स की वापसी शुरू हो गई है. यहां पर एक निहत्थे काले युवक की पुलिस की गोली से मौत के बाद दंगे भड़क गए थे.

इस इलाक़े में प्रदर्शन उग्र होने के कारण गत सोमवार को नेशनल गार्ड्स की तैनाती की गई थी.

तनाव में कमी के बाद, गुरुवार को मिसौरी प्रांत के गर्वनर जे निक्सन ने नेशनल गार्ड्स की वापसी का आदेश दिया था.

नौ अगस्त को 18 साल के माइकल ब्राउन को सड़क पर घूमने के कारण पुलिस ने रोका था जिसके बाद उनकी हत्या हो गई थी.

मिसौरी राज्य द्वारा गठित सैन्य सुरक्षा बल नेशनल गार्ड को पुलिसिया अभियान में मदद के लिए निक्सन ने बुलाया था.

बुधवार और गुरुवार को माहौल अपेक्षाकृत शांत रहा क्योंकि केवल कुछ ही गिरफ़्तारियां हुई थीं.

पुलिस अधिकारी निलंबित

लेकिन शांति के बावजूदसोमवार को ब्राउन का शव दफ़नाने के दौरान फिर से दंगे भड़क सकते हैं.

सेंट लुइश के बिशप एडविन बैस ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया, "सोमवार की रात एक मुश्किल रात होगी."

इमेज कॉपीरइट Getty

उन्होंने कहा, "अंतिम संस्कार का समुदाय में लोगों के मन पर बड़ा असर हो सकता है."

ब्राउन को गोली मारने वाले पुलिस अधिकारी डेरेन विल्सन को निलंबित कर दिया गया है.

लेकिन ब्राउन के परिवार और उनके समर्थक पुलिस अधिकारी के ख़िलाफ़ मुक़दमा चलाए जाने की मांग रहे हैं.

अमरीका के पहले अश्वेत अटार्नी जनरल एरिक होल्डर बुधवार को इस हत्या के मामले में अलग संघीय जांच के लिए न्याय विभाग के अधिकारियों से मुलाकत की.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप के लिए यहां क्लिक करें. ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने और ट्विटर पर भी आ सकते हैं.)

संबंधित समाचार