पाक: प्रदर्शनकारी संसद के परिसर में घुसे

  • 31 अगस्त 2014
इस्लामाबाद इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में इमरान ख़ान और ताहिरुल क़ादिरी के समर्थक संसद भवन के परिसर में घुसने में कामयाब हो गए हैं.

इस्लामाबाद में मौजूद बीबीसी संवाददाता आसिफ़ फ़ारुक़ी का कहना है कि यदि प्रदर्शनकारी संसद भवन में दाख़िल होने की कोशिश करते हैं तो उन्हें फ़ौज का सामना करना होगा.

इससे पहले जब प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री निवास की ओर कूच करने की कोशिश कर रहे थे तो सुरक्षा बलों ने उन पर आंसू गैस के गोले छोड़े और रबर की गोलियां दाग़ी.

पुलिस का कहना है कि प्रदर्शनकारियों को प्रधानमंत्री हाउस की ओर जाने की अनुमति नहीं दी गई है.

शहर के दो अस्पतालों ने बीबीसी को बताया कि कुल 264 लोग घायल हुए हैं जिनमें कम से कम 26 पुलिसकर्मी हैं. घायलों में दो की हालत गंभीर है.

इस्लामाबाद पुलिस को प्रमुख खालिद खटक ने बीबीसी को बताया कि क़रीब 100 प्रदर्शनकारियों को गिरफ़्तार किया गया है.

उन्होंने कहा, "गिरफ़्तार किए गए कई प्रदर्शनकारी कुल्हाड़ी जैसे हथियारों से लैस थे. मैं निश्चित तौर पर कह सकता हूं कि उनके पास बंदूकें भी हैं. हालांकि हमने कोई बंदूक नहीं देखी."

सेना की तैनाती बढ़ाई

सरकार ने प्रधानमंत्री हाउस समेत पूरे रेड ज़ोन की सुरक्षा सेना के हवाले कर रखी है.

इमेज कॉपीरइट EPA

रक्षा मंत्री ख़्वाजा आसिफ़ ने एक निजी टेलीविज़न चैनल से बातचीत में कहा है कि ज़रूरत पड़ने पर सेना को कार्रवाई करने का आदेश दिया जा सकता है.

इमेज कॉपीरइट AP

रक्षा मंत्री ने यह भी कहा है कि हिंसा के बीच बातचीत संभव नहीं है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इस पूरे घटनाक्रम के बीच पाकिस्तान के गृहमंत्री चौधरी निसार ने संवाददाताओं से कहा है, ''ये लोग सरकारी इमारतों पर क़ब्ज़ा करना चाहते हैं लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने भी संविधान और देश की रक्षा करने की शपथ ले रखी है.''

इमेज कॉपीरइट AP

शरीफ़ से इस्तीफ़े की मांग को लेकर इमरान ख़ान ने 14 अगस्त को लाहौर से आज़ादी मार्च की शुरुआत की थी. धर्मगुरु ताहिरुल क़ादरी ने भी उसी दिन इंक़लाब मार्च शुरू किया था.

इमेज कॉपीरइट Getty

दोनों का दावा है कि शरीफ़ ने पिछले साल हुआ आम चुनाव धांधली से जीता था. शरीफ़ ने आरोप से इंकार किया है और मौजूदा विरोध प्रदर्शनों को मामूली बताया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार