अमरीका की जासूसी करने वाले सैनिक की मौत

जॉन वॉकर जुनियर इमेज कॉपीरइट

सोवियत संघ के लिए जासूसी करने वाले एक 77 वर्षीय पूर्व अमरीकी नौसैनिक की जेल के मेडिकल सेंटर में मौत हो गई है.

सोवियत संघ को संवेदनशील डेटा और कोड देने के मामले में सेवानिवृत्त नौसेना वॉरंट ऑफ़िसर जॉन वॉकर जूनियर को 1985 में आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई थी.

सेवानिवृत्त होने के बाद भी उन्होंने जासूसी जारी रखने के लिए अपने बेटे, भाई और दोस्त की भर्ती की थी. इन सभी को दोषी पाया गया था.

उस समय इसे अमरीका के इतिहास में सैन्य क्षेत्र से जुड़ी ख़ुफ़िया जानकारियों की सबसे बड़ी सेंध माना गया था.

बेटे को भी सज़ा

वॉकर के बेटे को भी 15 साल तक जेल में सज़ा काटनी पड़ी और वह साल 2000 में रिहा हो पाए.

जब वॉकर 1967 में वॉशिंगटन डीसी में मौजूद सोवियत दूतावास गए और उन्होंने वहां गोपनीय सामग्री देने की पेशकश की थी.

अभियोजन पक्ष के मुताबिक़ गिरफ़्तारी के वक़्त वॉकर को अपनी विचारधारा की फ़िक्र कम थी. उन पर लालच ज़्यादा हावी था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार