कोई भी 'डाइट' लें, वज़न एकसमान घटेगा

इमेज कॉपीरइट Other

वैज्ञानिकों का कहना है कि वज़न की चिंता करने वाले लोगों के लिए एटकिंस के किसी भी आहार (वज़न घटाने वाले खाने) का प्रभाव एक जैसा ही होगा, उन्हें जो अच्छा लगे उसे वो चुन सकते हैं.

ओन्टारियो के मैकमास्टर यूनिवर्सिटी और टोरंटो के हॉस्पिटल फॉर सिक चिल्ड्रन रिसर्च इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों ने 7286 मोटे लोगों के आंकड़ों का विश्लेषण किया.

इस अध्ययन में एटकिंस, साउथ बीच, ज़ोन, बिगेस्ट लूज़र, ज़ेनी क्रेग न्यूट्रीसिस्टम, वैल्यूमिट्रिक, वेट वाचर, ऑरिंस एंड रोज़मैरी कोनली जैसी कंपनियों के आहार को शामिल किया गया.

पसंद या नापसंद

अमरीकन मेडिकल एसोसिएशन के जर्नल में यह अध्ययन प्रकाशित हुआ है. इसमें 48 अलग-अलग परीक्षणों में मिले आंकड़ों का विश्लेषण है.

इमेज कॉपीरइट Other

इसमें वैज्ञानिक इस नतीज़े पर पहुँचे हैं कि आहार से अधिक महत्वपूर्ण उसकी पसंदगी या नापसंदगी है.

नियमित अंतराल पर किसी आहार का फ़ैशन बदलता रहता है. जैसे अभी कम वसा और कम कार्बोहाइड्रेट वाले खाने के फ़ायदे को लेकर बहस चल रही है.

अध्ययन में पाया गया कि एक साल तक कम कार्बोहाइड्रेट और कम वसा वाला आहार खाने वाले लोगों का वजन औसतन 7.3 किलोग्राम कम हुआ. जो लोग कम कार्बोहाइट्रेट वाला आहार ल रहे थे, उन्होंने छह महीने में थोड़ा अधिक वजन कम किया.

जीवनशैली पर दें ध्यान

अध्ययन के मुताबिक, ''दो आहारों का अंतर बहुत कम था, इतना कि वजन कम करने वालों के लिए उसका बहुत अधिक महत्व नहीं था.''

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

इसमें कहा गया है, ''हमारे नतीज़े चिकित्सकों और आम लोगों को यह आश्वस्त करना चाहते हैं कि सबके लिए एक आहार जैसे नजरिए की ज़रूरत नहीं है, क्योंकि अलग-अलग आहार अच्छा-खासा वज़न घटाते हुए लगते हैं.''

इस अध्ययन में स्वास्थ्य से जुड़े अन्य मुद्दों पर ध्यान नहीं दिया गया है, जैसे कोलेस्ट्राल के स्तर को लेकर, जो अलग-अलग आहार में अलग-अलग हो सकता है.

ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाने वाली और सरकारी सलाहकार प्रो. सुज़ैन ज़ेब कहती हैं कि आहार जितना दिखते हैं उससे अधिक समान हो सकते हैं. वो एक दिन में 15 सौ कैलोरी घटाने, समय पर खाना खाने और बिस्कुट, केक और चॉकलेट से बचने की सलाह देती हैं.

वो कहती हैं कि लोगों के आहार को जीवनशैली के साथ मिलाने की कोशिश करनी चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार