शादी करनी है तो ड्राइविंग लाइसेंस दिखाओ!

शादी का लिबास, सऊदी अरब इमेज कॉपीरइट AFP

सऊदी अरब में शादी करने के ख्वाहिशमंद लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस की जरूरत पड़ सकती है.

कहा जा रहा है कि ये कदम तलाक के बढ़ते हुए मामलों को कम करने की कोशिशों के मद्देनज़र उठाया जा रहा है.

अरब न्यूज़ की खबर के मुताबिक सऊदी अरब का न्याय मंत्रालय निकाहनामे को आखिरी रूप देने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस रखने की शर्त रखने की संभावनाओं का अध्ययन कर रहा है.

अखबार के मुताबिक शादी के लिए जोड़ों को निकाह से पहले अनिवार्य 'वैवाहिक प्रशिक्षण' के लिए भी कहा जा सकता है.

फ़ैमिली कंसल्टेंट अब्दुल सलाम अल-सक़बाई कहते हैं कि तलाक के बढ़ते मामलों पर रोकथाम के इरादे से इस प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है.

इससे पहले एक शादी के जोड़ों को स्वास्थ्य और फिटनेस के लिए सरकारी मेडिकल जांच के लिए भी कहा गया था लेकिन इसका कोई असर नहीं हुआ.

तलाक की वजह

सक़बाई बताते हैं कि मेडिकल टेस्ट के नतीजों और तलाक के मामलों के बीच कोई सीधा रिश्ता नहीं दिखा.

सऊदी अरब के अधिकारियों का कहना है कि हाल के सालों में देश में तलाक के मामले बढ़े हैं और सरकार मुल्क पर पड़ने वाले इसके असर को लेकर चिंतित है.

सऊदी मीडिया में सरकारी आंकड़ों के हवाले से ये बताया गया है कि ज्यादातर मामलों में तलाक की वजह शादी के बाद पति का पत्नी को काम करने की इजाजत न देना है या फिर बीवी के वेतन पर शौहर के हक को लेकर पैदा हुए झगड़े होते हैं.

( बीबीसी न्यूज़ फ़्रॉम एल्स्वेर दुनिया भर के टीवी, रेडियो, वेब और प्रिंट माध्यमों में प्रकाशित होने वाली ख़बरों पर रिपोर्टिंग और विश्लेषण करता है. आप बीबीसी न्यूज़ फ़्रॉम एल्स्वेर की खबरें ट्विटर पर भी पढ़ सकते हैं.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार