हवाई हमले 'इस्लाम के ख़िलाफ़ युद्ध'

अल-नुस्रा फ़्रंट के समर्थक इमेज कॉपीरइट AFP

सीरियाई चरमपंथी गुट अल-नुस्रा फ़्रंट ने अमरीकी नेतृत्व वाले हवाई हमलों को ''इस्लाम के ख़िलाफ़ युद्ध'' कह कर उसकी निंदा की है.

इंटरनेट पर पोस्ट किए गए एक वक्तव्य में अल-क़ायदा से जुड़े इस गुट ने दुनिया भर में जिहादियों से हवाई हमलों में शामिल पश्चिमी और अरब देशों को निशाना बनाने को कहा.

ये वक्तव्य ऐसे समय में आया है जब अमरीका और कई अन्य देश इराक़ और सीरिया में इस्लामिक स्टेट लड़ाकों के ख़िलाफ़ हवाई हमलों का दायरा बढ़ा रहे हैं.

धमकी

आईएस और अल-नुस्रा फ़्रंट दोनों ही कट्टरवादी इस्लामिक गुट हैं लेकिन अब तक दोनों एक दूसरे के ख़िलाफ़ थे और हाल के समय सीरिया में एक दूसरे के आमने-सामने थे.

लेकिन शनिवार को अल-नुस्रा के प्रवक्ता अबु फ़िरास अल-सूरी ने गठबंधन में शामिल देशों को धमकी दी.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सीरियाई शहर अर रक़्क़ा में आईएस ठिकाने पर अमरीका ने हवाई हमला किया था.

उन्होंने कहा, "ये देश एक बहुत भयंकर क़दम उठा रहे हैं जो इन्हें दुनिया भर के जिहादियों के निशाने पर ले आएगा."

उन्होंने आगे कहा, "ये अल-नुस्रा के ख़िलाफ़ नहीं बल्कि इस्लाम के ख़िलाफ़ युद्ध है."

अमरीका के नेतृत्व में अरब देशों समेत 40 देशों के गठबंधन का मक़सद आईएस को तबाह करना है. इस गुट ने उत्तर-पूर्वी सीरिया और उत्तरी इराक़ के बड़े हिस्सों पर क़ब्ज़ा कर रखा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार