हाँग काँग: छात्र वार्ता के लिए तैयार

हाँग काँग में प्रर्शन करते छात्र इमेज कॉपीरइट Reuters

हाँग काँग में पिछले पांच दिन से आंदोलनरत लोकतंत्र समर्थक छात्र नेता सरकारी अधिकारियों से बातचीत के लिए तैयार हो गए हैं.

छात्र नेताओं ने हाँग काँग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सीवाई लियुंग की ओर से दिए गए समझौता प्रस्ताव पर यह प्रतिक्रिया दी है.

उनका प्रस्ताव छात्रों की ओर से इस्तीफ़े के लिए दी गई मध्यरात्रि की समय सीमा ख़त्म होने से पहले आया. छात्रों ने कहा था कि अगर लियुंग ने इस्तीफ़ा नहीं दिया तो वो सरकारी इमारतों पर क़ब्ज़ा कर लेंगे.

गंभीर परिणाम की चेतावनी

छात्रों की यह समय सीमा शांतिपूर्वक बीत गई.

इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES
Image caption हाँग-काँग के सीईओ सीवाई लियुंग ने छात्रों को गंभीर परिणाण भुगतने की चेतावनी दी है

लियुंग ने कहा कि वो अपने पद पर बने रहेंगे और अगर छात्रों ने सरकारी इमारतों पर क़ब्ज़ा किया तो उन्हें इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे.

ये छात्र 2017 में प्रस्तावित चुनाव में चीन के दख़ल का विरोध कर रहे हैं.

हाँग काँग पर 150 साल तक शासन करने के बाद ब्रिटेन ने उसे जुलाई 1997 में चीन को सौंप दिया था. इसके बाद मई 1998 में वहां चुनाव हुए थे.

चीन ने दिसंबर 2007 में कहा था कि 2017 में हाँग काँग के लोग सीधे अपने नेताओं का और 2020 तक क़ानून निर्माताओं का चुनाव कर सकेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार