बर्मा: 3000 से ज़्यादा क़ैदी होंगे रिहा

इमेज कॉपीरइट Getty

म्यांमार की सरकार ने देश भर की जेल में बंद तीन हज़ार से ज़्यादा कैदियों को रिहा करने का फ़ैसला लिया है.

म्यांमार के सूचना मंत्री यू ये हतूत ने अपने फ़ेसबुक एकाउंट के जरिए बताया है कि देश के राष्ट्रपति थेन सिन ने शांति और स्थिरता के लिए इन क़ैदियों को रिहा करने का फ़ैसला लिया है.

बीबीसी के म्यांमार स्थित संवाददाता जोना फ़िशर के मुताबिक रिहा किए जा रहे क़ैदियों में कुछ पूर्व खुफ़िया अधिकारी शामिल हैं.

इसके अलावा रिहा किए जा रहे लोगों में ज़्यादातर राजनीतिक क़ैदी हैं.

मानवाधिकार समूह से जुड़े लोगों का अनुमान है कि देश की जेलों में अभी भी कई सौ लोग बंद हैं.

इमेज कॉपीरइट burmese

मानवाधिकार संगठनों ने बर्मा की पूर्व सैनिक सरकार पर ग़लत तरीके से तक़रीबन 2000 राजनीतिक विपक्षियों, पत्रकारों और विरोधियों को बंदी बनाने का आरोप लगाया था.

राष्ट्रपति थेन सिन ने नवंबर 2010 के चुनाव के बाद से बर्मा में प्रमुख राजनीतिक सुधारों की शुरुआत की है. बर्मा में लंबे अर्से तक सैन्य शासन रहा है.

राजनीतिक सुधारों के तहत देश में तमाम राजनीतिक कैदियों को रिहा किया जा चुका है और मीडिया पर भी प्रतिबंध हटाए गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार