इबोला संक्रमण का मामला स्पेन में

स्पेन में इबोला संक्रमण इमेज कॉपीरइट AP
Image caption स्पेन लाए जाने के एक दिन बाद ही इबोला से जूझ रहे मैनुएल विएजो की मौत हो गई.

जानलेवा इबोला वायरस के संक्रमण का मामला अब स्पेन में भी सामने आया.

स्पेन के स्वास्थ्य मंत्री अना माटो ने खबर की पुष्टि करते हुए बताया है कि एक नर्स को इबोला संक्रमण हुआ है और ये संक्रमण उन्हें मैड्रिड में इबोला के दो मरीजों के इलाज के दौरान हुआ.

इबोला संक्रमण के चलते इन दोनों मरीजों की मौत हो गई थी.

69 वर्ष के मैनुएल विएजो की मौत 25 सितंबर को हुई. उन्हें सिएरा लियोन से इबोला संक्रमण के बाद यहां लाया गया था.

जबकि 75 वर्ष के दूसरे मरीज मिगुएल पजारिज की मौत लाइबेरिया में संक्रमित होने के बाद अगस्त में हुई थी.

इन दोनों के इलाज में शामिल नर्स अब संक्रमण के चपेट में आ गई हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption मैनुएल विएजो की फाइल फोटो. वे इबोला संक्रमण के बाद अफ्रीका से लाए गए दूसरे पादरी थे.

माना जा रहा है कि अफ्रीका से बाहर इबोला संक्रमण का ये पहला मामला है.

फिलहाल नर्स की स्थिति स्थिर बताई जा रही है.

व्यापक मुहिम की जरूरत

स्वास्थ्य मंत्री ने इबोला वायरस से सभी नागरिकों की रक्षा के लिए सरकार की प्रतिबद्धता जताई है.

इतना ख़तरनाक क्यों है इबोला?

पश्चिमी अफ़्रीका में इबोला वायरस के संक्रमण से लगभग 3,400 लोगों की मौत हो चुकी है.

इमेज कॉपीरइट SPL
Image caption पश्चिमी अफ़्रीका में इबोला वायरस के संक्रमण से लगभग 3,400 लोगों की मौत हो चुकी है

इस बीच अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि व्हाइट हाउस इबोला से सबसे ज़्यादा प्रभावित पश्चिम अफ्रीका से अमरीकी हवाईअड्डे पहुंचने वालों की अतिरिक्त जांच पर गंभीरता से विचार कर रहा है.

हालांकि ओबामा ने कहा है कि अमरीका में इबोला के संक्रमण की आशंका न के बराबर है, फिर भी इबोला के ख़िलाफ़ मुहिम चलाने के लिए वह बड़े देशों पर व्यापक दबाव बनाएंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार