इबोला ख़तरे पर डब्लूएचओ की 'चेतावनी'

स्पेन, इबोला इमेज कॉपीरइट Getty

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लयूएचओ) के एक प्रमुख अधिकारी पीटर पिएट ने चेताया है कि विकसित देशों में स्वास्थ्यकर्मियों में इबोला संक्रमण के और ज़्यादा मामले सामने आ सकते हैं.

मंगलवार को स्पेन की एक नर्स में इबोला संक्रमण पाया गया था. यह पश्चिमी अफ़्रीक़ा के बाहर इबोला संक्रमण का पहला मामला बताया जा रहा है.

प्रोफ़ेसर पिएट के अनुसार जब स्वास्थ्यकर्मी इबोला के उपचार केंद्र से बाहर आते हैं वे पसीने से तरबतर होते हैं, ऐसे में छोटी सी भूल वायरस के संक्रमण की वजह बन सकती है.

स्पेन में संक्रमण

मीडिया की ख़बरों में स्पेन की नर्स की पहचान टेरेसा रोमेरो के रूप में की गई है, उन्होंने पश्चिमी अफ़्रीका से स्वदेश वापस लौटने वाले स्पेनी मिशन के दो इबोला मरीजों की देखभाल की थी.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption स्पेन में नर्स का ख़तरनाक वायरस की चपेट में आना पश्चिम अफ़्रीका के बाहर पहला मामला माना जा रहा है.

संक्रमित नर्स को स्पेन की राजधानी मैड्रिड में बने उपचार केंद्र में अपने पति और 50 अन्य लोगों के साथ निगरानी में रखा गया है.

इबोला संक्रमण से तकरीबन 3,400 लोगों की मौत हो चुकी है.

सबसे ज़्यादा मौतें पश्चिमी अफ़्रीकी देश गिनी, सियरा लियोन और लाइबेरिया में हुई हैं.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार