मौत की नींद सुलाने वाला कमरा

डेथ चैंबर, ओक्लाहोमा इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका के ओक्लाहोमा राज्य में एक डेथ चैम्बर फिर से खोला गया है, जहाँ कम से कम तीन व्यक्तियों को इस साल के आख़िर तक मौत की सज़ा दी जाएगी.

ओक्लाहोमा प्रांत के मैक्लेस्टर में पेनिटेंटिरी स्थिति चैम्बर को लगभग 44 लाख रुपये की लागत से बनाया गया है.

अप्रैल में मौत की सज़ा के दौरान ज़हरीला इंजेक्शन देने में गडबड़ी के बाद इस चैम्बर का फिर से निर्माण किया गया.

मौत की सज़ा में विफलता

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption नए डेथ चैंबर में कम से कम तीन व्यक्तियों को इस साल के आख़िर तक मौत की सज़ा दी जाएगी.

मौत की सज़ा देने वाली टीम को हत्या के एक अपराधी क्लेटन लॉकेट की बांह, गर्दन और पांव में इंजेक्शन देने के लिए सही नस तलाशने में करीब एक घंटे तक परेशान होना पड़ा था.

आख़िर में टीम ने उनकी जांघ के एक नस में इंजेक्शन देने की कोशिश की, लेकिन यह विफल रहा.

इस ग़लती का पता चलने के बाद उनकी मौत की सज़ा रोक दी गई थी.

हालांकि थोड़े समय बाद लॉकेट का दिल का दौरान पड़ने के बाद मौत हो गई.

इस नए डेथ चैम्बर के 'केमिलकल रूम' का आकार बढ़ा दिया गया है, जहां मौत की सज़ा के लिए ख़तरनाक दवाइयां रखी जाती है.

डेथ चैम्बर की ख़ासियत

इमेज कॉपीरइट AP

इस डेथ चैम्बर में प्रत्यक्षदर्शियों वाला हिस्सा छोटा किया गया है, अब केवल मीडिया के पाँच सदस्य मौत की सज़ा को देख सकते हैं.

इसमें कैमरे, वीडियो स्क्रीन और हृदय की गति पर निगरानी करने वाले उपकरण लगे हैं ताकि मौत की सज़ा देने वाली टीम पूरी प्रक्रिया की प्रगति पर नज़र रख सके.

यहां लगी अल्ट्रासाउंड मशीन से टीम को दोषियों की नाड़ी पर नज़र रखने में सहूलियत होगी.

इस नए डेथ चैम्बर में चार्ल्स फ़्रेडरिक वार्नर को 13 नवंबर को मौत की सज़ा दी जाएगी.

उनको 1997 में एक 11 महीने की लड़की के बलात्कार और हत्या का दोषी करार दिया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार