अमरीका: अस्पताल की ग़लती से फैला इबोला

टैक्सस हैल्थ प्रैसबायटीरियन अस्पताल के चिकित्सा कर्मी इमेज कॉपीरइट AP

एक वरिष्ठ अमरीकी स्वास्थ्य अधिकारी का कहना है कि टेक्सस राज्य में इबोला बीमारी से मरने वाले व्यक्ति का इलाज कर रहे चिकित्सा कर्मियों से ''साफ़ तौर'' पर ग़लती हुई थी जिसकी वजह से उनमें से एक स्वास्थ्य कर्मी संक्रमित हो गई.

संक्रमित महिला स्वास्थ्य कर्मी की हालत स्थिर है और बीमारी की पुष्टि होने तक उसे एक अलग वॉर्ड में रखा गया है.

सेंटर्स फ़ॉर डिसीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन, सीडीसी, के प्रमुख डॉक्टर टॉम फ़्रीडन का कहना था कि संक्रमण फैलने की वजह की पूरी जांच होगी.

उन्होंने एक अमरीकी प्रसारक को बताया, "साफ़ है कि इलाज की प्रक्रिया का उल्लंघन हुआ है."

जांच और निगरानी

डॉक्टर फ़्रीडन का कहना था कि सीडीसी की जांच का केंद्र डायलिसिस और रेस्परेट्री इंट्यूबेशन प्रक्रियाओं के दौरान हुए संभावित उल्लंघन होगा.

उन्होंने कहा कि 48 अन्य लोगों को भी निगरानी में रखा गया है.

इमेज कॉपीरइट

स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना था कि टेक्सस हैल्थ प्रैसबायटीरियन अस्पताल में इबोला से संक्रमित थॉमस एरिक डंकन के इलाज के दौरान स्वास्थ्य कर्मी संरक्षात्मक कपड़े पहनती थी.

डंकन अपने देश लाइबेरिया में इबोला से पीड़ित हो गए थे और उनकी बुधवार को मौत हो गई.

इबोला के अब तक 8300 से ज़्यादा पुष्ट और संदिग्ध मामले सामने आए हैं और इस बीमारी से कम से कम 4,033 लोगों की मौत हो चुकी है. ज़्यादातर मामले और मौतें पश्चिम अफ़्रीक़ी देश लाइबेरिया, सियेरा लियोन और गिनी में हुई हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार