सीरिया संकट- 36 घंटों में 200 हवाई हमले

सीरिया संकट 36 घंटों में 200 हवाई हमले इमेज कॉपीरइट BBC World Service

सीरिया की सेना ने विरोधियों के ठिकानों पर हवाई हमलों में बढ़ोतरी कर दी है. विपक्ष के एक कार्यकर्ता के मुताबिक़ पिछले दिनों 200 हमले किए गए हैं.

मानवाधिकारों का निरीक्षण करने वाली एक सीरियाई संस्था ने कहा है कि रविवार रात को और मंगलवार दोपहर पश्चिमी इलाक़ों पर हवाई हमले किए गए हैं.

बिट्रेन के एक समूह का कहना है कि इस हमले में कई लोगों के मारे की आशंका है.

ये हमले अमरीका के नेतृत्व वाली सेना ने सीरिया और इराक़ में सक्रिय इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों के ठिकानों पर किए थे.

अमरीका और अरब के लड़ाकू विमानों ने उत्तर सीरियाई शहर कोबानी में इस्लीमिक स्टेट के ठिकानों को निशाना बनाया जहां कुर्द लड़ाके ज़मीन पर आईएस से संघर्ष कर रहे हैं.

हथियार

इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीकी अधिकारियों का कहना है कि वो उस वीडियो फ़ुटोज को देख रहे हैं जिसमें रविवार को अमरीकी विमानों से कुर्द लड़ाकों के लिए गिराए गई युद्ध सामग्री इस्लामिक स्टेट के लड़ाको के हाथ लग गई थी.

उत्तरी इराक़ में कुर्द लड़ाकों के लिए दवाइयों और हथियारों के 27 बंडल गिराए गए थे.

इराक़ में कुर्द अधिकारियों का कहना है कि उन्होनें लगभग 120 पशमर्ग लड़ाकों को कोबानी की तरफ़ रवाना किया है. ये फ़ैसला बुधवार को कुर्द सासंदों के लड़ाई के समर्थन में वोट देने के बाद लिया गया.

ये क़दम तुर्की की सरकार के सोमवार को दिए उस संकेत के बाद उठाया गया जब तुर्की ने पशमर्ग लड़ाकों को सीरिया जाने के लिए तुर्की का रास्ता लेने की इजाज़त दी थी.

तुर्की की सीमा से लगने वाला कोबानी कई हफ़्तों से इस्लामिक स्टेट का आक्रमण झेल रहा है जिसमें कई आम नागरिकों को कोबानी छोड़कर जाने के लिए मजबूर कर दिया गया.

बीबीसी के संवाददाता कासरा नाज़ी जो कि तुर्की की सीमा पर मौजूद हैं उनके मुताबिक़ पशमर्ग लड़ाके अबतक उत्तरी इराक़ पहुंचे हैं या नहीं ये बता पाना थोड़ा मुश्किल है.

अधिकारियों का कहना है कि पशमर्ग लड़ाके अपने साथ भारी हथियार लेकर जा रहे हैं जिनकी कोबानी में आईएस का विरोध कर रहे कुर्द लड़ाको को बहुत ज़रूरत है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार