मिस्र ने सिनाई में लगाया आपातकाल

सिनाई, सेना, मिस्र इमेज कॉपीरइट

मिस्र ने सिनाई प्रायद्वीप के अशांत इलाक़ों में तीन महीने के आपातकाल की घोषणा की है.

यह घोषणा सिनाई में हुए दो हमलों में कम से कम 31 सैनिकों के मारे जाने के बाद की गई है.

राष्ट्रपति फतह अल सीसी की तरफ़ से जारी बयान में कहा गया कि सिनाई प्रायद्वीप के उत्तरी और मध्य हिस्से में आपातकाल शनिवार से लागू होगा.

सरकारी टेलीविज़न के मुताबिक़ ग़ज़ा पट्टी को जोड़ने वाले राफ़ा क्रॉसिंग को भी बंद कर दिया गया है.

शुक्रवार को सेना के एक सुरक्षा नाके पर हुए आत्मघाती हमले में 28 सैनिक मारे गए थे.

एल-एरिश शहर के पास हुए एक धमाके में कम से कम 28 सैनिक घायल हुए थे. इसी शहर में एक सुरक्षा नाके पर हुई गोलीबारी में तीन सैनिकों की मौत हो गई थी.

मिस्र में शोक

मिस्र के सैनिकों पर यह हमला ऐसे समय हुआ है जब सेना उत्तरी सिनाई में जिहादियों के ख़िलाफ़ अभियान चला रही है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक में आपातकाल लगाने का निर्णय लिया गया.

सिनाई में आपातकाल लगाने का फ़ैसला राष्ट्रपति की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के साथ हुई बैठक में लिया गया.

राष्ट्रपति की तरफ़ से जारी एक बयान में कहा गया, "चरमपंथ के ख़तरों और इसको मिलने वाली वित्तीय सहायता के ख़िलाफ़ सेना और पुलिस सभी ज़रूरी क़दम उठाएंगे, ताकि इस क्षेत्र की सुरक्षा बनी रहे और नागरिकों की ज़िंदगी बचाई जा सके."

काहिरा में मौजूद बीबीसी संवाददाता ओर्ला ग्युरिन ने कहा कि सिनाई में हुए भारी नुक़सान से मिस्र में शोक का माहौल है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार