पिस्टोरियस की 'कम सज़ा' के ख़िलाफ़ अपील

पिस्टोरियस की कम सज़ा के ख़िलाफ़ अपील इमेज कॉपीरइट Reuters

दक्षिण अफ्रीका में ऑस्कर पिस्टोरियस मामले में अभियोजन पक्ष ने उन्हें दी गई 'आश्चर्यजनक रूप से कम सज़ा' के ख़िलाफ़ अपील की इजाज़त माँगी है. इसका पता मामले से जुड़े काग़ज़ात से चला है.

पिस्टोरियस को अपनी गर्लफ़्रेंड रीवा स्टीनकैंप की हत्या के मामले में पांच साल की सज़ा सुनाई गई थी. हालाँकि वह 10 महीनों में बाहर आ सकते हैं.

सरकारी वकील का कहना है कि अदालत ने स्टीनकैंप की 'भयानक तरीक़े से की गई हत्या' पर ग़ौर नहीं किया.

अभियोजन पक्ष के वकील पिस्टोरियस को हत्या के आरोप से बरी करने के ख़िलाफ़ भी अपील करेंगे.

सरकारी वकील का आरोप था कि पिस्टोरियस ने स्टीनकैंप की पूर्व नियोजित तरीक़े से हत्या की थी.

आरोप से बरी

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption पिस्टोरियस ने पिछले साल अपनी गर्लफ़्रेंड पर चार गोलियाँ दाग़ दी थीं

21 अक्तूबर को हुई अदालती कार्यवाही में उच्च न्यायलय की जज टोगोज़ीले मसिपा ने पिस्टोरियस को इस आरोप से बरी कर दिया गया था जबकि उन्हें ग़ैर इरादतन हत्या का दोषी क़रार दिया गया था.

नॉर्थ ख़ोतेंग हाई कोर्ट में दायर की गई याचिका को दक्षिण अफ्रीका की 'आईविटनेस न्यूज़' वेबसाइट पर प्रकाशित किया गया. जिसमें अभियोग पक्ष के वकील ख़ैरी नेल ने कहा है कि जज मसिपा ने ग़लती की, उन्होंने अभियुक्त की निजी परिस्थितियों को ज़रूरत से ज़्यादा महत्व दिया जिसमें ये बताया गया था कि पिस्टोरियस 'हादसे के बाद से सदमे में हैं और ग्लानि भी महसूस कर रहे हैं'.

नेल ने कहा कि पिस्टोरियस को दी गई सज़ा 'आश्चर्यजनक रूप से कम और अनुचित है. ऐसी सज़ा कोई भी तर्कसंगत अदालत नहीं देती'.

सरकारी वकील की अपील है कि पिस्टोरियस को सबसे ज़्यादा 15 साल की सज़ा दी जानी चाहिए.

पिस्टोरियस फ़िलहाल अपनी सज़ा प्रिटोरिया के एक अस्पताल में काट रहे हैं.

पिस्टोरियस ने 29 साल की अपनी महिला मित्र रीवा स्टीनकैंप पर पिछले साल वेलेंटाइन डे के दिन (14 फ़रवरी 2013) चार गोलियां दाग़ दी थीं. उनका कहना है कि लुटेरों की आशंका में उन्होंने गोलियाँ चलाई थीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार