आईएस: ओबामा का ख़ामेनेई को ख़ुफ़िया पत्र

बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट AP

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इस्लामिक स्टेट (आईएस) के ख़िलाफ़ लड़ाई में सहयोग पर चर्चा के लिए ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता अयातुल्लाह अली ख़ामेनेई को ख़ुफ़िया पत्र लिखा है.

अमरीकी अख़बार वॉल स्ट्रीट जर्नल के मुताबिक़ ओबामा ने यह पत्र पिछले महीने भेजा.

अख़बार के मुताबिक़ पत्र में इराक़ और सीरिया में आईएस के ख़िलाफ़ जारी लड़ाई में ईरान और अमरीका के बीच 'साझा हितों' का ज़िक्र किया गया है.

लेकिन अख़बार के अनुसार राष्ट्रपति ओबामा ने इस बात पर बल दिया है कि कोई भी सहयोग इस बात पर निर्भर करेगा कि ईरान अपने परमाणु प्रसार कार्यक्रम को सीमित करने के लिए सहमत हो.

परमाणु मसला

एक ईरानी सूत्र ने बीबीसी से पुष्टि की है कि ख़ामेनेई को ओबामा का एक पत्र मिला है. लेकिन व्हाइट हाउस के एक प्रवक्ता ने इस बात से इनकार किया है कि ईरान के प्रति अमरीकी नीति बदल गई है.

ईरान और अमरीका समेत दुनिया के छह देश इस महीने के अंत तक ईरान के परमाणु मुद्दे पर किसी समझौते तक पहुँचने की कोशिश कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अमरीका ने ईरान के प्रति अपनी निती में बदलाव से इनकार किया है

यह समझौता 24 नवंबर तक होना है. ईरान का रुख़ जानने के लिए अमरीकी विदेश मंत्री जॉन कैरी रविवार को अपने ईरानी समकक्ष के साथ बैठक करने वाले हैं.

ईरान अमरीका के नेतृत्व में इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ जारी लड़ाई का हिस्सा नहीं है. लेकिन वह आईएस के ख़िलाफ़ जम़ीनी लड़ाई लड़ रहा है.

अमरीकी अधिकारियों का कहना है कि परमाणु वार्ता के दौरान ईरान से इस मुद्दे पर भी बातचीत हुई है, लेकिन दोनों देशों के बीच कोई सैन्य या ख़ुफ़िया सहयोग नहीं हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार