आईएस के वीडियो में दिखा दूसरा फ्रांसीसी

इमेज कॉपीरइट

सीरियाई क़ैदियों और अमरीकी बंधकों के इस्लामिक स्टेट के हाथों सिर काटने के वीडियो में दिख रहे लोगों में फ्रांस के दूसरे नागरिक की भी पहचान हुई है.

फ्रांसीसी सरकार ने इसकी पुष्टि की है. स्थानीय मीडिया ने अनाम अधिकारियों के हवाले से खबर दी है कि वीडियो में नज़र आ रहा 22 साल का नौजवान पेरिस के एक उपनगर का है.

इससे पहले फ्रांस की सरकार ने वीडियो में माक्सिम हाउशार्ड नाम के एक फ्रांसीसी नागरिक की पहचान की थी.

माना जा रहा है कि करीब 1000 फ्रांसीसी जिहादी सीरिया गए हैं.

कैनबेरा की यात्रा पर आए फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांसवां ओलांद ने बुधवार को पत्रकारों से कहा है कि इस्लामी स्टेट के चरमपंथियों के नए वीडियो में "दो फ्रांसीसी नागरिक" थे. उन्होंने कहा, "इनमें से एक को निश्चित रूप से पहचान लिया गया है और दूसरे को पहचानने की प्रक्रिया चल रही है."

इसी साल ब्रसेल्स में जब एक यहूदी संग्राहलय पर हमला हुआ तभी इस बात की आशंका बढ़ गई थी कि इस्लामिक स्टेट की जंग में फ्रांसीसी नागरिक भी शामिल हैं.

यह हमला 29 साल के मेहदी नेमाउशे ने किया था जिसमें चार लागों की मौत हो गई थी. नेमाउशे सीरिया में जिहादी बन कर लड़ रहे थे.

दोनों की पहचान

इमेज कॉपीरइट Reuters

समाचार एजेंसी एएफपी ने जांच से जुड़े एक सूत्र के हवाले से खबर दी है कि दूसरे शख़्स की पहचान अबू ओथमैन के रूप में हुई है.

पुराने वीडियो से अलग इस बार के वीडियो में कई चरमपंथी दिख रहे हैं जिनके चेहरे पर नक़ाब नहीं है.

इसी हफ्ते फ्रांस के अभियोजकों ने हाउशार्ड का नाम उन लोगों में शामिल किया था जो सीरियाई कैदियों को मारने के लिए ले कर जा रहे थे.

वीडियो में अमरीकी राहतकर्मी अब्दुल रहमान कासिग के कटे सिर को भी दिखाया गया है. कासिग को पिछले साल सीरिया में अगवा कर लिया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार