इबोला का प्रयोगात्मक टीका 'सुरक्षित'

इमेज कॉपीरइट b

इबोला से निपटने के लिए बने प्रयोगात्मक टीके के परीक्षण के बाद वैज्ञानिकों का कहना है कि ये दवा सुरक्षित लगती है.

वैज्ञानिकों का कहना है कि इस दवा से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को वायरस को पहचानने में मदद मिल सकती है.

यूएस नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ हेल्थ (एनआईएच) के वैज्ञानिकों का कहना है कि नतीजे आशाजनक हैं.

ये शोध न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ़ मेडिसिन में छपा है.

इमेज कॉपीरइट AP

इस दवा को प्रयोग के तौर पर 20 लोगों को दिया गया था. इनमें से किसी पर भी दवा का कोई विपरीत प्रभाव नहीं पड़ा और उनके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता ने भी काम किया.

इमेज कॉपीरइट b

शोधकर्ताओं का कहना है अभी इन नतीजों को पुख्ता नहीं कहा जा सकता लेकिन अगर दूसरे छोटे प्रयोग सफल साबित होते हैं तो इबोला का ये टीका पश्चिम अफ्रीका में स्वास्थ्य कर्मचारियों को अगले साल जनवरी महीने की शुरुआत से दिया जाएगा.

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि पश्चिम अफ्रीका में पिछले हफ्ते आए इबोला के 600 ताज़ा मामलों में आधे से ज्यादा सियरा लिओन से आए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)