बीजिंगः 'यहां चीनियों का घुसना मना है'

चीनी ग्राहक इमेज कॉपीरइट AFP

चीन की राजधानी बीजिंग में कपड़ों की एक दुकान ने चीन के ही लोगों के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी है.

सरकारी दैनिक समाचारपत्र बीजिंग यूथ डेली ने जानकारी दी है कि बीजिंग की दुकान ने ऐसा करते हुए बाहर एक साइनबोर्ड टांगा है जिस पर लिखा है, "दुकान में स्टॉफ़ को छोड़ सभी चीनियों का प्रवेश निषेध है".

दुकान के ऐसा करने के पीछे की वजह बताते हुए दुकान के ही एक कर्मचारी ने अखबार को बताया कि कुछ चीनी ग्राहक बहुत 'परेशान करने वाले' होते हैं.

उसने बताया कि यही नहीं चीन की महिलाएं दुकान में आकर अक्सर घंटों कपड़े देखती रहती हैं, लेकिन ख़रीदती एक भी नहीं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

कर्मचारी ने यह भी बताया कि बीजिंग के इस दुकान को एक विदेशी ग्राहक का बटुआ चोरी हो जाने पर 5,000 डॉलर का जुर्माना भी भरना पड़ा था. जबकि खुफ़िया कैमरे का फ़ुटेज देखने पर पता चला कि बटुआ किसी चीनी ग्राहक ने ही उड़ा लिया था.

सोशल मीडिया पर हंगामा

इमेज कॉपीरइट Reuters

इस घटना ने चीन की सोशल मीडिया पर हंगामा खड़ा कर दिया है. चीनी साइट वाइबो डॉट कॉम के यूजर लिखते हैं, "क्या ये चीन ही है?"

साइट पर एक दूसरे यूजर्स ने लिखा कि यदि दुकान के मालिक को चीनी ग्राहक पसंद नहीं हैं तो उसने चीन में अपनी दुकान खोली ही क्यूं?

वे लिखते हैं कि ये तो ऐसा है कि हमारे साथ "अपनी ही दहलीज पर बदमाशी" हो रही है.

इमेज कॉपीरइट AFP GETTY
Image caption दूकान को शिकायत है कि चीनी महिलाएं घंटों कपड़े देखती हैं, लेकिन खरीदती एक भी नहीं.

पर कानूनी विशेषज्ञ ने बीजिंग यूथ डेली को बताया है कि जहां तक चीनियों के साथ भेदभाव की बात है, दुकान के मालिक ने किसी तरह का गैरकानूनी काम नही किया है.

क्योंकि चीन में नस्लीय भेदभाव पर अब तक किसी तरह का कानूनी प्रतिबंध नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार