एरिक गार्नर की मौत की जाँच के आदेश

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका में न्याय विभाग ने एरिक गार्नर की मौत की जाँच करवाने का फ़ैसला किया है.

इससे पहले न्यूयॉर्क में एक ग्रैंड ज्यूरी ने जुलाई में हुए काले निहत्थे व्यक्ति एरिक गार्नर की मौत के मामले में गोरे पुलिस अफ़सर पर आरोप तय करने से इनकार कर दिया था. नई जाँच की घोषणा एटॉर्नी जनरल एरिक होल्डर ने की है.

ग्रैंड ज्यूरी के आदेश के बाद न्यूयॉर्क में बड़ पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए थे. कार्यकर्ताओं ने इस सिलसिले में अगले हफ़्ते वाशिंग्टन में मार्च भी बुलाया है.

एक वीडियो में दिखाया गया था कि 43 साल के गार्नर को 17 जुलाई को न्यूयॉर्क में कथित तौर पर ऐसी सिगरेट बेचने के लिए गिरफ्तार किया जा रहा है जिन पर टैक्स नहीं चुकाया गया है.

इमेज कॉपीरइट Getty

पुलिस के साथ हुई तनातनी में गार्नर को ज़मीन पर फ़ेक दिया गया था. बाद में उनकी मौत हो गई.

पिछले हफ़्ते ही अमरीका में इस बात को लेकर तनाव का माहौल बना रहा था कि फर्गूसन शहर में एक काले किशोर को गोली मारने वाले गोरे पुलिस अधिकारी को दोषी नहीं पाया गया है.

वहीं अमरीका में नागरिक अधिकारों के लिए काम करने वाले रेवरेंड ऐल शार्पटन ने कहा है कि अमरीका की ग्रैंड ज्यूरी प्रणाली बिखर चुकी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)