जर्मनीः आईएस जेहादी को जेल की सज़ा

आईएस जेहादी इमेज कॉपीरइट AFP

जर्मनी में एक व्यक्ति को चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) से जुड़ने की वजह से तीन साल नौ महीने की जेल की सज़ा सुनाई गई है.

जर्मनी में इस तरह का यह पहला मुकदमा है.

फ़्रैंकफर्ट की एक अदालत ने विदेशी चरमपंथी संगठन का सदस्य बनने पर क्रेशनिक बेरिशा को दोषी ठहराया है.

बेरिशा ने यह स्वीकार किया कि उन्होंने पिछले साल सीरिया में आईएस चरमपंथियों के साथ छह महीने बिताए थे.

जर्मन अधिकारियों का मानना है कि आईएस के लिए संघर्ष करने के मक़सद से जर्मनी के क़रीब 500 लोग इराक़ और सीरिया गए हैं.

डील

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption आईएस के लिए संघर्ष करने के मकसद से जर्मनी के क़रीब 500 लोग इराक़ और सीरिया गए

एएफपी न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक़ घरेलू ख़ुफिया एजेंसी का यह अनुमान है कि लड़ाई और आत्मघाती हमले में 60 लोगों की मौत हुई है जबकि 180 लोग जर्मनी वापस लौट आए हैं.

पिछले दिसंबर में 20 वर्षीय बेरिशा को सीरिया से वापसी के बाद फ़्रैंकफर्ट हवाई अड्डे पर गिरफ़्तार किया गया था.

उन पर यह आरोप था कि वह उत्तरी सीरिया के शहर एलेप्पो में आईएस लड़ाकुओं के साथ थे जहां विद्रोही सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद की सेना के ख़िलाफ़ संघर्ष कर रहे थे.

सितंबर में उनके मामले पर सुनवाई शुरू हुई थी जिसमें अभियोजकों ने उनके सामने यह पेशकश की थी कि अगर वे अपने अपराध को क़बूल करते हैं तो उनकी सज़ा थोड़ी कम होगी.

इस क़रार में बेरिशा से आईएस समूह की आंतरिक गतिविधियों के बारे में सूचनाएं हासिल करना भी शामिल था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार