सिडनी: बंदूकधारी से बातचीत, पांच बंधक निकले

इमेज कॉपीरइट AP

सिडनी के एक कैफ़े में लोगों को बंधक बनाने वाले बंदूकधारी से ऑस्ट्रेलियाई पुलिस बातचीत कर रही है.

लगभग आठ घंटे से कई लोगों को बंदूकधारी ने शहर के एक कैफ़े में बंधक बना रखा है जबकि पांच लोग बाहर आ गए हैं.

न्यू साउथ वेल्स की पुलिस की उपायुक्त कैथरीन बर्न ने ये स्पष्ट करने से इनकार कर दिया है कि इन लोगों को छोड़ा गया है या वे खुद भाग कर आए हैं.

उन्होंने ये भी नहीं बताया कि क्या बंदूकधारी की तरफ से कोई मांग रखी गई है.

न्यू साउथ वेल्स की पुलिस का कहना है कि वे 'एक सशस्त्र घटना' की स्थिति से निपट रहे हैं.

प्रधानमंत्री टोनी एबट ने लोगों से अपील की है कि वो घबराएं नहीं और सामान्य तरीके से अपना काम करते रहें. उन्होंने कहा कि सरकार स्थिति पर नज़र रखे हुए है.

काला झंडा

इमेज कॉपीरइट AFP

टीवी फ़ुटेज में दिखाया गया है कि कैफ़े के अंदर बंदूकधारी काला झंडा जैसा कुछ लिए हुए हैं, जिस पर सफेद रंग में अरबी में लिखा हुआ है, "अल्लाह एक है."

समाचार एजेंसी एपी के अनुसार ऑकलैंड यूनिवर्सिटी के इस्लामिक स्टडीज़ रिसर्च यूनिट के प्रमुख ज़ैन अली का मानना है कि यह शहादत यानी मजहब के प्रति गवाही है.

कैफ़े के बाहर भारी संख्या में सशस्त्र अधिकारियों ने मोर्चा संभाल लिया है.

पुलिस की एक महिला प्रवक्ता ने कहा है कि अभी तक घटनास्थल से किसी के घायल होने की ख़बर नहीं है.

घटनास्थल की तरफ जाने वाली सड़कों को बंद कर दिया गया है, दफ़्तर खाली करा दिए गए हैं और लोगों से इस जगह से दूर रहने को कहा गया है.

'चिंताजनक घटना'

इमेज कॉपीरइट Gettty

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टोनी एबट ने कहा है कि कैबिनेट की राष्ट्रीय सुरक्षा समिति को इस मामले की जानकारी दी गई ही है.

एबट ने संवाददाताओं से कहा कि इस घटना में शामिल लोगों का मकसद क्या है, यह अभी साफ़ नहीं है.

उन्होंने कहा कि वे देशवासियों से आम दिनों की तरह अपने काम पर जाने की अपील करते हैं.

उन्होंने कहा कि सरकार के सारे कामकाज सामान्य तरीके से होंगे. मिड ईयर बजट को तय कार्यक्रम के अनुसार पेश किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि न्यू साउथ वेल्स पुलिस इस घटना से निपट रही है.

एबट ने कहा, "ऐसे मौकों पर कई तरह के दावे किए जाते हैं, इसलिए मैं सभी मीडियाकर्मियों से रिपोर्टिंग में सावधनी बरतने की अपील करता हूं."

यह कैफ़े शहर के बीचों-बीच मार्टिन प्लेस में है. यहाँ रिज़र्व बैंक ऑफ़ ऑस्ट्रेलिया के साथ-साथ देश के दो बड़े बैंकों के मुख्यालय भी हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)