जब दुनिया तीसरे विश्व युद्ध की कगार पर थी..

क्यूबा (फ़ाइल फोटो) इमेज कॉपीरइट Getty

पचास साल की कड़वाहट को किनारे कर अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और क्यूबा के राष्ट्रपति राउल कास्त्रो ने दोनों देशों के बीच आर्थिक-कूटनीतिक संबंध शुरू करने की घोषणा की है.

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption हवाना की ये तस्वीर वर्ष 1897 की है जब क्यूबा अपने औपनिवेशिक शासक स्पेन से आज़ादी के लिए लड़ रहा था.

अमरीकी तट से मात्र 93 मील दूर स्थित क्यूबा 1960 के दशक से ही अमरीका की नज़र में खटकता रहा है. क्यूबा में वर्ष 1959 में क्रांति के बाद फ़िदेल कास्त्रो के नेतृत्व में कम्युनिस्ट सरकार बनी.

अमरीका ने क्यूबा से अपने तमाम कूटनीतिक रिश्ते तोड़कर उस पर आर्थिक प्रतिबंध लगा दिए थे. क्यूबा ने सोवियत संघ का हाथ थामा और अमरीका-क्यूबा के बीच अविश्वास गहराता गया.

इमेज कॉपीरइट
Image caption फिदेल कास्त्रो मॉस्को में सोवियत नेता निकिता ख्रुश्चेव के साथ.

अक्तूबर 1962 में वो 13 दिन आए जब दुनिया तीसरे विश्व युद्ध की कगार पर खड़ी थी. सोवियत संघ ने अपने मिसाइल क्यूबा भेजे जो अमरीका को निशाना बनाते हुए तैनात किए जाने थे.

राष्ट्रपति जॉन एफ़ कैनेडी के नेतृत्व में अमरीका ने कड़ा रुख अपनाया. सोवियत संघ को मिसाइल वापस बुलाने पड़े और विश्व युद्ध का ख़तरा टल गया.

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption क्यूबा के राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो वॉशिंगटन में अमरीकी उप राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन के साथ.

तब से अब तक आधी सदी बीत चुकी है और अब क्यूबा के राष्ट्रपति राउल कास्त्रो हैं जो फ़िदेल कास्त्रो के ही भाई हैं.

क्यूबा दशकों से ख़ासी आर्थिक तंगी से गुज़र रहा है और राउल कास्त्रो मानते हैं कि अमरीका से बेहतर संबंधों से फ़ायदा हो सकता है.

इमेज कॉपीरइट AP

वेटिकन और कनाडा, ओबामा और कास्त्रो के बीच बातचीत शुरू करने के लिए पिछले 18 महीने से कोशिश कर रहे थे. मंगलवार को राउल कास्त्रो ने क़ैदियों के आदान-प्रदान पर सहमति जताई.

इसके बाद क्यूबा में पांच साल तक क़ैद रहे अमरीकी नागरिक एलन ग्रॉस की रिहाई के बाद दोनों देशों के राष्ट्रपतियों ने कूटनीतिक संबंध बहाल करने की घोषणा की है.

इमेज कॉपीरइट Other

एलन ग्रॉस को क्यूबा में प्रतिबंधित सैटेलाइट तकनीक आयात करने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था.

अमरीकी अधिकारियों ने बताया कि एक और व्यक्ति को क्यूबा ने रिहा किया है जो बीस साल से उसकी जेल में बंद था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका ने भी बहुचर्चित 'क्यूबन फ़ाइव' के तीन क़ैदियों को रिहा कर दिया है. इन्हें अमरीका में जासूसी के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था.

अमरीका ने क्यूबा से मानवाधिकार मामलों में आगे बढ़ने को कहा है और अन्य 53 राजनीतिक क़ैदियों की रिहाई पर सहमति जताने के लिए क्यूबा के नेतृत्व की तारीफ़ की है.

दूसरी ओर राउल कास्त्रो ने क्यूबा पर लगाए अमरीकी आर्थिक प्रतिबंधों को हटाने की मांग की.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार