न्यूयॉर्क: दो पुलिसकर्मियों की हत्या

इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीका के न्यूयॉर्क में एक बंदूक़धारी ने दो पुलिस अधिकारियों की गोली मारकर हत्या कर दी है. पुलिस के अनुसार बाद में बंदूक़धारी ने ख़ुद को भी गोली मार ली.

पुलिस अधिकारियों की हत्या की ये घटना शनिवार दोपहर बाद की है.

बंदूक़धारी ने पुलिस अधिकारियों पर गोलियां उस वक़्त चलाईं जब वो दोनों पेट्रोलिंग गाड़ी के अंदर बैठे थे.

गोली लगने के बाद दोनों अधिकारियों को अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया.

ख़ुद को गोली मारी

अधिकारियों का कहना है कि गोली मारने के बाद बंदूक़धारी सबवे स्टेशन की ओर भागा और उसके बाद उसने ख़ुद को भी गोली मार ली.

इमेज कॉपीरइट AP

दोनों मृत पुलिस अधिकारियों के नाम ली वेनजिन और रफेल रमोस बताया जा रहा है जबकि मारने वाले बंदूक़धारी का नाम इस्माइल ब्रिंस्ले बताया जा रहा है जिनकी उम्र 28 साल है.

न्यूयॉर्क पुलिस के प्रमुख बिल ब्रैटन का कहना है कि पुलिस अधिकारियों की वर्दी को देखकर उन्हें निशाना बनाया गया है.

ब्रैटन ने बताया कि पुलिस अधिकारियों को मारने के पहले न तो कोई 'चेतावनी दी गई और न ही कोई उकसाने वाली घटना हुई थी'.

शहर में शोक

इससे पहले हमलावर ने अपनी गर्लफ्रेंड को गोली मारकर घायल कर दिया था और सोशल मीडिया पर पुलिस विरोधी मैसेज पोस्ट किए थे.

न्यूयॉर्क के मेयर बिल डी ब्लासियो ने लोगों से अपील की है कि जिस किसी को भी सोशल मीडिया पर इस तरह के ख़तरे के संकेत मिलें उसे इसकी जानकारी अधिकारियों को देनी चाहिए.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption पिछले तीन साल में पुलिस अधिकारी पर किया गया ये पहला जानलेवा हमला है.

उन्होंने कहा कि इस घटना से पूरे शहर में शोक है.

बीबीसी की समीरा हुसैन का कहना है कि यह घटना ऐसे समय हुई है जब न्यूयॉर्क पुलिस के कामकाज पर उंगली उठ रही है.

ग़ुस्सा

अमरीका में पिछले दिनों काले लोगों की मौत के मामले में गोरे पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई न करने को लेकर काफ़ी ग़ुस्सा भड़क गया था.

न्यूयॉर्क और अमरीका के दूसरे शहरों में इसके ख़िलाफ़ व्यापक प्रदर्शन हुए थे.

न्यूयॉर्क पुलिस पर इस तरह का जानलेवा हमला इससे पहले साल 2011 में हुआ था.

उसकी क़रीब तीन साल बाद इस तरह की घटना हुई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)