परमाणु प्लांटों की सुरक्षा में जुटा द. कोरिया

दक्षिण कोरिया परमाणु संयत्र इमेज कॉपीरइट AFP

दक्षिण कोरिया के परमाणु संयत्र संचालक साइबर हमले से मुक़ाबले की क्षमता की जांच के लिए अभ्यास जांच करेंगे.

बीते सप्ताह कोरिया हाइड्रो और न्यूक्लियर पावर कंपनी (केएचएनपी) के स्वामित्व वाले संयत्र के उपकरणों के डिज़ाइन और नियमावली को किसी अज्ञात व्यक्ति या समूह ने सोशल साइट्स पर डाल दिया था.

इसके साथ ही धमकी दी गई थी कि अगर क्रिसमस तक तीनों रिएक्टरों को बंद नहीं किया जाता तो लोगों को उनसे 'दूर रहना' चाहिए.

केएचएनपी का कहना है कि लीक से रिएक्टरों की सुरक्षा पर कोई फ़र्क नहीं पड़ता.

सिलसिला

कोरिया की एकमात्र परमाणु संचालक केएचएनपीन ने एक बयान में कहा कि वह सोमवार और मंगलवार को चार परमाणु ऊर्जा संयत्रों में बड़े पैमाने पर अभ्यास जांच कर रहा है.

शुक्रवार को 'परमाणु रिएक्टर विरोधी समूह का अध्यक्ष' अकाउंट नाम से परमाणु रिएक्टरों के ब्लू प्रिंट सोशल मीडिया पर डाल दिए गए थे.

दक्षिण कोरिया की योनहैप समाचार एजेंसी के अनुसार 15 सितंबर से जारी ऐसी पोस्टों के सिलसिले में यह सबसे नई कड़ी है.

इमेज कॉपीरइट AFP

दक्षिण कोरिया सरकार ने बीबीसी को बताया कि मुख्य संचालन पद्धति और रिएक्टर्स को हैक नहीं किया जा सका है. हैंकिंग और दस्तावेज़ों की लीक की जांच की जा रही है.

स्थानीय मीडिया के अनुसार केएनपीएच 23 परमाणु संयत्रों का संचालन करती है और कोरिया की बिजली की 30% आपूर्ति करती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार