इंटरनेट पर मीठी-मीठी बातें हैं ख़तरनाक

फ़ाइल फोटो

इंटरनेट की दुनिया में एक नई तरह का अपराध जन्म ले चुका है. इसका नाम है- सेक्सटॉर्शन - मतलब सेक्स के नाम पर उगाही.

हर साल हज़ारों लोग इसका शिकार हो रहे हैं.

फिलीपीन्स जैसे देशों में जहां इंटरनेट सस्ता और सुलभ है, वहां से ऐसे अपराध किए जा रहे हैं.

मनीला में हाल ही में साइबर क्राइम यूनिट ने एक ऐसे ही केंद्र पर छापा मारकर कई युवक-युवतियों को गिरफ़्तार किया. यह लोग सोशल मीडिया साइट्स के ज़रिए लोगों को फंसाते थे.

'फंदा'

शिकार को फंसाने का तरीक़ा निराला है. पहले सोशल मीडिया के ज़रिए फ़्रेंड रिक्वेस्ट भेजी जाती है. एक आकर्षक युवती वेबकैम के ज़रिए अंतरंग बातचीत का प्रस्ताव देती है.

इमेज कॉपीरइट AFP

इस वेबचैट को रिकॉर्ड कर लिया जाता है और इसके बाद शुरू होता है ब्लैकमेलिंग का खेल. वीडियो को इंटरनेट पर डालने की धमकी देकर पैसा मांगा जाता है.

ऐसे ही एक पीड़ित ने बीबीसी को बताया, "मुझे धमकी दी गई कि वह मेरे परिवार और दोस्तों को यह वीडियो भेज देगी. मेरी बीवी, बेटी को इसके बारे में बता देगी और मेरी ज़िंदगी बर्बाद कर देगी."

लोग शिकायत नहीं करते

इमेज कॉपीरइट Reuters

ऐसे लोगों के लिए एक सहायता समूह चलाने वाले वेयन मे कहते हैं, "ब्लैकमेल करने वालों को कोई फ़र्क नहीं पड़ता कि उनके शिकार की ज़िंदगी इससे बर्बाद हो सकती है, उन्हें तो सिर्फ़ पैसे से मतलब होता है."

वेयन बताते हैं कि ज़्यादातर मामलों में वेबकैम पर दिखने वाली लड़की एक प्रोग्राम का हिस्सा होती है जिसे कोई ऑपरेट कर रहा होता है. ये पहले से रिकॉर्डेड वीडियो होता है.

पुलिस ऐसे गिरोहों के ख़िलाफ़ काम कर रही है, लेकिन ज़्यादातर पीड़ित इतने शर्मिंदा होते हैं कि वह सामने आना ही नहीं चाहते और सेक्सटॉर्शन करने वाले अपराधी नए शिकार की तलाश में लगे रहते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार