'उत्तर कोरिया का परमाणु कार्यक्रम तेज़'

दक्षिण कोरिया का कहना है उत्तर कोरिया परमाणु प्रगति पर इमेज कॉपीरइट AFP

दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने अनुमान लगाया है कि उत्तर कोरिया परमाणु हथियारों का कार्यक्रम तेज़ कर रहा है.

श्वेत पत्र जारी कर मंत्रालय ने कहा है कि उत्तर कोरिया को पहला परमाणु परीक्षण किए काफ़ी वक़्त गुज़र चुका है.

इस श्वेत पत्र में मंत्रालय ने कहा, ''परमाणु हथियारों का लघु रूप बनाने की उत्तर कोरिया की क्षमता एक अहम स्तर तक पहुंच गई है. ''

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption उत्तर कोरिया में 2013 में हुई सैन्य परेड में रॉकेट लॉन्चर गुज़रते हुए दिखे.

परमाणु हथियारों का छोटा रूप बनाकर उन्हें लंबी दूरी की मिसाइलों में फ़िट किया जा सकेगा जिसके बाद सैंद्धांतिक रूप से ये मिसाइलें दक्षिण कोरिया ही नहीं अमरीका तक पहुंच जाएगी.

मंत्रालय के एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी योनहाप को बताया कि ''इस ख़बर का मूल्यांकन नहीं किया गया है और परमाणु मिसाइल के लिए छोटे उपकरण बनाने की भी जानकारी नहीं मिली है.''

मगर अधिकारी ने यह भी कहा कि इस तरह की तकनीक हासिल करने में दो से सात साल का समय लगता है और अब उत्तर कोरिया को पहला परमाणु परीक्षण किए आठ साल हो गए हैं.

उत्तर कोरिया ने तीन ताज़ा परमाणु परीक्षण फ़रवरी 2013 में किए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार