स्कूल में इमरान ख़ान के ख़िलाफ़ नारे

इमरान ख़ान के आने पर अभिभावकों का हंगामा इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पेशावर हमले में अपने पोते को गंवाने वाली महिला इमरान से मदद की गुहार लगाते हुए.(फ़ाइल फ़ोटो)

पाकिस्तान तहरीके इंसाफ़ पार्टी के प्रमुख इमरान ख़ान जब पेशावर में तालिबान के हमले का निशाना बने आर्मी पब्लिक स्कूल पहुंचे तो हमले में मरने वाले बच्चों के परिजनों ने उनके ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन किया.

16 दिसंबर 2014 को इस स्कूल में तालिबान के हमले में 134 छात्रों सहित 143 लोग मारे गए थे.

इमरान ख़ान प्रांत ख़ैबर पख़्तूनख़्वा में शासक दल के अध्यक्ष, अपनी पत्नी और प्रांत के कुछ नेताओं के साथ बुधवार की सुबह इस स्कूल में पहुंचे. वहां उन्होंने छात्रों और कुछ अभिभावकों से मुलाक़ात की.

इमरान का विरोध

इस दौरान कुछ अभिभावकों ने उनसे शिकायत की और कहा कि राज्य की तहरीके इंसाफ़ सरकार ने कुछ नहीं किया है और उनके बच्चों की मौत पर राजनीति की जा रही है.

इमेज कॉपीरइट AP

स्कूल के बाहर मौजूद प्रदर्शनकारियों ने इमरान ख़ान का कड़ा विरोध किया और 'गो इमरान गो' के नारे लगाए.

उनका कहना था कि इमरान ख़ान ने मुश्किल वक़्त में तो उन्हें अकेला छोड़ दिया और घटना के एक महीने बाद वहां क्या करने आए हैं.

विरोध में शिरकत कर रही एक महिला ने कहा कि ''बच्चों को शहीद हुए एक महीना भी पूरा नही हुआ और इमरान ने शादी रचा ली. हमारे दिलों पर छुरियां चल रही हैं और उन्होंने आराम से शादी कर ली.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार