नाइजीरिया: तस्वीरों से 'विनाश का अंदाज़ा'

नाइजीरिया के क़स्बों की सैटेलाइट तस्वीर इमेज कॉपीरइट BBC World Service

नाइजीरिया के जिन क़स्बों पर बोको हराम ने हमला किया था उनकी सैटेलाइट तस्वीरों से ज़ाहिर हुआ है कि इन शहरों में तबाही और मौतों का स्तर काफ़ी अधिक हो सकता है.

मानवाधिकार संस्था एमनेस्टी इंटरनेशनल के अनुसार इन तस्वीरों से पता चलता है कि नाइजीरिया के बागा और डोरोन बागा क़स्बों में क़रीब 3700 इमारतों को नुक़सान पहुँचाया गया है.

हालांकि नाइजीरिया सरकार ने उन ख़बरों का खंडन किया है जिनमें मरने वालों की संख्या 2000 बताई गई थी. सरकार के अनुसार इन क़स्बों में बोको हराम के हमले में 150 लोग मारे गए थे.

एमनेस्टी ने घटना के पीड़ितों और चश्मदीदों के बयान के हवाले से कहा है कि बोको हराम के चरमपंथियों ने बेरोकटोक हत्याएँ की. संगठन के अनुसार यह तबाही 'भयानक' थी.

ये सैटेलाइट तस्वीरें हमले के पहले दो जनवरी, और हमले के बाद सात जनवरी को ली गई थीं.

हिंसा में बढ़ोतरी

इमेज कॉपीरइट AFP

नाइजीरिया में पिछले कुछ दिनों में बोको हराम के ज़रिए की गई हिंसा में बढ़ोतरी हुई है. पिछले कुछ हफ़्तों में कई हमले हुए हैं, जिनमें एक संदिग्ध आत्मघाती हमलावर बच्ची का हमला भी शामिल है.

नाइजीरिया में अगले महीने चुनाव होने वाले हैं. हिंसक घटनाओं को देखते हुए इस बात पर संदेह जताए जा रहे हैं कि पूरे देश में चुनाव कराना संभव हो पाएगा.

एमनेस्टी ने कहा है कि उनकी जानकारी में बोको हराम का यह अब तक का सबसे घातक और बड़ा हमला था. इस हमले में बागा में 620 इमारतों और डोरो बागा में 3100 इमारतों को नष्ट किया गया है.

पश्चिमी शिक्षा का विरोध

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption बोको हराम के लड़ाके

चरमपंथी संगठन बोको हराम का गठन साल 2002 में हुआ था. इसके नाम का मतलब है कि पश्चिमी शिक्षा का विरोध.

संगठन ने साल 2009 में नाइजीरिया को इस्लामिक राष्ट्र बनाने के लिए सैन्य हमले करने शुरू किए थे. इन हमलों में अब तक हज़ारों लोग मारे गए हैं.

अमरीका ने साल 2013 में बोको हराम को चरमपंथी संगठन घोषित किया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)