अमरीकी संसद पर हमले की 'साज़िश नाकाम'

अमरीकी संसद भवन इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी ख़ुफ़िया एजेंसी एफ़बीआई ने वॉशिंगटन में अमरीकी संसद भवन पर हमले की कथित साज़िश रचने के आरोप में एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया है.

इस व्यक्ति को बुधवार को ओहायो में गिरफ़्तार किया गया.

हमले की कथित साज़िश के पीछे चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट का हाथ बताया जा रहा है.

चरमपंथ के समर्थन में ट्वीट?

अदालती दस्तावेज़ों के मुताबिक़ गिरफ़्तार व्यक्ति का नाम क्रिस्टोफ़र कॉर्नेल है. 20 वर्षीय कॉर्नेल पर एक अमरीकी अधिकारी की हत्या की कोशिश का आरोप लगाया गया है.

कॉर्नेल तब एफ़बीआई के निशाने पर आए जब उन्होंने इस्लामिक स्टेट जैसे चरमपंथी संगठनों के समर्थन में ट्वीट किया था.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption अमरीकी अधिकारियों ने इस साज़िश में आईएस का हाथ होने का दावा किया है

सिनसिनाटी स्थित एफ़बीआई के स्पेशल एजेंट जॉन बारियस ने कहा कि जांच के दौरान आम लोगों की जान को किसी तरह का ख़तरा नहीं था.

कॉर्नेल के पिता का कहना है कि उनके बेटे ने हिंसक जिहाद से संबंधित कुछ संदेश पोस्ट किए होंगे, लेकिन वह किसी तरह का हमला करने में सक्षम नहीं है.

क्रिस्टोफ़र कॉर्नेल ने एक बंदूक़ ख़रीदी थी. हालाँकि एफ़बीआई का एक जासूस लंबे समय से कॉर्नेल की गतिविधियों पर नज़र रखे हुए था.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार