मुश्किल में पाक लेकिन फ़ैशन उद्योग जगमग

पाकिस्तान फ़ैशन इमेज कॉपीरइट AP

पाकिस्तान की सामाजिक और आर्थिक दिक़्क़तों के बावजूद इसका फ़ैशन उद्योग अपने पूरे शबाब पर है.

एक रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान का फ़ैशन बाज़ार अब अरबों डॉलर का हो गया है और वह ब्रिटेन जैसे देशों को डिज़ाइन निर्यात कर इस सफ़लता को भुनाना चाहता है.

इसीलिए पाकिस्तान फ़ैशन वीक लंदन में आयोजित किया जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Getty

फ़ैशन डिज़ाइनर हनी वकार कहती हैं, "ज़ाहिरा तौर पर यहां बहुत बड़ा बाज़ार मौजूद है. मैं कहूंगी कि करोड़ों का बाज़ार है. इसलिए यह डिज़ाइनरों के लिए अच्छा मौक़ा है कि वे आएं और पाकिस्तान की एक नर्म तस्वीर सामने रखें."

मुक़ाबले को तैयारी?

पाकिस्तानी डिज़ाइनर धीरे-धीरे ब्रिटेन के बाज़ार में अपनी जगह बना रहे हैं. कई एशियाई बुटीक लंदन, बर्मिंघम और मैनेचेस्टर में अपना काम शुरू कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

पाकिस्तान की ट्रेड डेवलपमेंट अथॉरिटी की राबिया जावेरी आगा कहती हैं, "पाकिस्तान की कला संस्कृति का अपना पुराना इतिहास है. हमारी कोशिश है कि हम उसे बाज़ार तक लाएं और उसे यूरोप की ज़रूरतों के हिसाब से ढालें."

इमेज कॉपीरइट AP

लेकिन क्या पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय फ़ैशन जगत से मुक़ाबले के लिए तैयार है?

ब्रिटेन की फ़ैशन ब्लॉगर सराह ख़ान का कहना है, "मेरे ख़्याल से एशियाई और पाकिस्तानी फ़ैशन को अपनी असली ताक़त दिखाने का मौक़ा अब तक नहीं मिला. लंदन में पाकिस्तान फ़ैशन वीक ने हमें मौक़ा दिया कि लोग आएं और देखें कि हम फ़ैशन जगत को क्या दे सकते हैं."

(लंदन में पाकिस्तानी फ़ैशन)

आयोजकों को उम्मीद है, फ़ैशन इंडस्ट्री पाकिस्तान की छवि बदलने के साथ कमाई का रास्ता भी खोल सकेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार