अफ़ग़ान मंत्री इंटरपोल के 'मोस्ट वॉन्टेड'

मोहम्मद याक़ूब हैदरी इमेज कॉपीरइट

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ़ गनी द्वारा मनोनीत कृषि मंत्री का नाम इंटरपोल की मोस्ट वॉन्टेड सूची में आने के बाद राष्ट्रपति कार्यालय ने मामले की जांच शुरू कर दी है.

इंटरपोल की वेबसाइट के मुताबिक़ वर्ष 2003 के बड़े पैमाने पर कर चोरी के मामले में एस्तोनिया को मोहम्मद याक़ूब हैदरी की तलाश है.

अफ़ग़ान सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा कि राष्ट्रपति कार्यालय इस बात से अनजान था कि हैदरी के साथ क़ानूनी दिक़्कतें हैं लेकिन अब इस मामले की जांच चल रही है.

हैदरी ने इस पर सफ़ाई देते हुए कहा है कि भले ही उनका नाम मोस्ट वॉन्टेड की सूची में हैं लेकिन उन्हें राजनीतिक षड्यंत्र का शिकार बनाया गया है.

कारोबार

समाचार एजेंसी रॉयटर्स से उन्होंने कहा, "यदि आप कारोबार और राजनीति की दुनिया में क़दम रखते हैं तो ऐसा ही होता है."

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption अशरफ़ गनी ने हैदरी को मंत्री पद के लिए मनोनीत किया है.

उन्होंने कहा कि कर बक़ाया उन पर नहीं बल्कि उस व्यक्ति पर है जिसने उनसे एक कंपनी ख़रीदी जिसने एस्तोनिया में कारोबार किया.

हैदरी का नाम कई सालों से मोस्ट वॉन्टेड की सूची में था लेकिन अफ़ग़ानिस्तान में ऐसी कोई सूचना नहीं थी और कम ही लोगों की इस बात की जानकारी थी.

राष्ट्रपति गनी ने मुख्य कार्यकारी अब्दुल्ला अब्दुल्ला से पेचीदा समझौते और अपने शपथ ग्रहण के क़रीब तीन महीने बाद सोमवार को मंत्रिमंडल के उम्मीदवार तय किए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार