सोशल मीडिया पर 'ज़ शुइ..' की आँधी

इमेज कॉपीरइट Getty

पेरिस में शार्ली एब्डो पर हुए हमले के बाद चरमपंथी हिंसा के खिलाफ़ 'ज़ शुइ शार्ली' अभियान दुनिया भर के सोशल मीडिया में बहुत लोकप्रिय हुआ है.

'ज़ शुइ' फ्रेंच भाषा का शब्द हैं, जिनका अर्थ है- 'मैं हूँ.'

'ज़ शुइ शार्ली' ख़बरों की दुनिया में अब तक का सबसे मशहूर हैशटैग बन चुका है.

विश्व के तमाम सामाजिक और राजनीतिक कार्यकर्ता अनेक मंचों पर इसका इस्तेमाल कर रहे हैं.

जशुइ रइफ़

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption रइफ़ बदावी के समर्थक

इस हैशटैग का इस्तेमाल सउदी ब्लॉगर और सामाजिक कार्यकर्ता रइफ़ बदावी के समर्थक कर रहे हैं.

बदावी को जेद्दाह में इस्लाम का अपमान करने के आरोप में कोड़े मारने की सज़ा दी गई थी.

ज़ शुइ वोल्नोवाखा

उधर युक्रेन में राष्ट्रपति पेत्रो पेरोशेन्को सहित अनेक सोशल मीडिया यूज़र्स 'ज़ शुइ वोल्नोवाखा' हैशटैग का प्रयोग रूस समर्थक अलगाववादियों से हो रहे संघर्ष की तरफ़ ध्यान खींचने के लिए कर रहे हैं.

इस हैशटैग का नाम वोल्नोवाखा नाम के शहर पर रखा गया है जहाँ पिछले हफ्ते ही बमबारी में बारह लोगों की मौत हो गई थी.

ज़ शुइ हिपोक्रेट

अनेक सोशल मीडिया यूज़र्स अभिव्यक्ति की आज़ादी को लेकर सरकारों और मीडिया के दोहरे मापदंडों को उजागर करने के लिए भी इस हैशटैग का इस्तेमाल कर रहे हैं .

इसके अलावा बोको हराम की निर्दयता और हिंसा की निंदा करने के लिए 'ज़ शुइ नाइजीरिया' हैशटैग भी लोकप्रिय हो रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार