इस्लाम को जाने यूरोप के युवा : ख़ामनेई

अयातुल्ला अली ख़ामनेई इमेज कॉपीरइट AP

फ़्रांस में व्यंग्य पत्रिका शार्ली एब्डो पर हुए हमले और अन्य घटनाओं को देखते हुए ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता अयातुल्ला अली ख़ामनेई ने यूरोप और उत्तरी अमरीका के युवाओं को एक पत्र लिखा है.

इसमें उन्होंने कहा है कि वो यूरोप के नेताओं को नहीं बल्कि युवाओं को संबोधित कर रहे हैं, क्योंकि भविष्य में यूरोप के देशों की कमान इन्ही युवाओं के हाथ में होगी.

उनका कहना है कि युवा राजनीति और धर्म में बहुत अच्छी तरह से अंतर कर सकते हैं.

इस्लाम की छवि

इमेज कॉपीरइट GETTY
Image caption फ़्रांस में व्यंग्य पत्रिक शार्ली एब्डो और एक सुपर मार्किट में हुई आतंकी घटनाओं में 17 लोगों की मौत हो गई थी.

पत्र में उन्होंने युवाओं को इस्लाम के बारे में बताया है, ख़ासकर उस उस बारे में जैसा कि आजकल इस्लाम की छवि बनाई जा रही है.

इसमें उन्होंने कहा है कि अमरीका और यूरोप का इतिहास गुलामी, उपनिवेशवाद, रंग और ग़ैर ईसाइयत के आधार पर भेदभाव वाला रहा है.

उन्होंने युवाओं से दो अपीलें की हैं, पहली यह कि युवा इस्लाम की छवि धूमिल करने वालों के बारे में पढ़े और पता लगाएं कि ऐसा कौन कर रहा है.

उन्होंने जो दूसरी अपील की है वह यह कि ग़लत जानकारियों से बचते हुए वो इस्लाम के बारे में सही जानकारी जुटाएं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार