'मेरा बेटा इस्लाम का दुश्मन नहीं है'

जापानी बंधक, इस्लामिक स्टेट इमेज कॉपीरइट AFP

इस्लामिक स्टेट द्वारा बंधक बनाए गए दो जापानी नागरिकों में से एक की मां ने अपने बेटे की रिहाई की अपील की है.

जुनको इशिदो ने जापान में पत्रकारों को बताया कि उनका बेटा केंजी गोटो इस्लाम का दुश्मन नहीं है.

इस्लामिक स्टेट ने जापान सरकार को एक वीडियो के जरिए धमकी दी है कि अगर 20 करोड़ डॉलर की फ़िरौती नहीं मिली तो वो गोटो और एक अन्य बंधक हारुना युकावा को जान से मार देंगे.

फिरौती की समय सीमा शुक्रवार को ख़त्म हो रही है.

इस्लामिक स्टेट ने बंधकों के बदले जितनी फ़िरौती मांगी है वह उतनी ही है जितनी जापान ने इस्लामिक स्टेट से प्रभावित हुए शरणार्थी देशों को मानवीय सहायता की घोषणा की है.

मध्य पूर्व को मदद

इमेज कॉपीरइट EPA

इस्लामिक स्टेट के पास बंधक दो जापानियों में एक पत्रकार और दूसरे निजी सैन्य सुरक्षा सलाहकार हैं.

जापान का विदेश मंत्रालय तथाकथित वीडियो की प्रमाणिकता की जाँच कर रहा है.

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा है कि नागरिकों की जान बचाना उनका पहला कर्तव्य है लेकिन जापान इस्लामिक स्टेट के बारे में अपनी नीति में कोई बदलाव नहीं करेगा.

जापान ने मध्य पूर्व के विकास के लिए ढाई अरब डॉलर की ग़ैर-सैन्य मदद का ऐलान किया है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption जापानी बंधक केंजी गोटो की मां ने बेटे के रिहाई की अपील की.

इस मदद में से 20 करोड़ डॉलर उन देशों को मदद के रुप में दिया जाएगा जो इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ लड़ रहे हैं.

चरमपंथी संगठन आईएस ने इसके पहले भी कई लोगों को गला काट कर मार डालने के वीडियो जारी किए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार