शाह अब्दुल्लाह किए गए सुपुर्दे खाक

इमेज कॉपीरइट AFP SAUDI TV

सऊदी अरब में एक सादगीपूर्ण समारोह में शाह अब्दुल्ला का अंतिम संस्कार किया गया.

उनके शव को पहले रियाद में एक मस्जिद में ले जाया गया जहां स्थानीय नेताओं की मौजूदगी में प्रार्थना की गई.

शाह के शव को जिस कब्र में दफनाया जाएगा उसे चिन्हित नहीं किया जाएगा.

शुक्रवार सुबह शाह अब्दुल्ला का निधन हो गया था. वो 90 वर्ष के थे. उनके निधन पर बहरीन और जॉर्डन ने 40 दिनों के शोक की घोषणा की है.

दुनिया भर से शोक संदेश

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ अल साऊद नए शाह बने हैं

भारत समेत दुनियाभर से कई देशों ने सऊदी अरब को शोक संदेश भेजे हैं.

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने भी दुख व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि 'हमने एक ऐसी अहम शख्तियत खो दिया है, जिसने अपने देश को लंबे समय तक प्रभावित किया.'

शोक संदेश भेजने वालों में सऊदी अरब का परंपरागत प्रतिद्वंद्वी देश ईरान भी शामिल है.

अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने शोक संदेश में सऊदी की जनता के प्रति सहानुभूति व्यक्त की है.

इसराइल के पूर्व राष्ट्रपति शिमोन पेरेज़ ने कहा कि शाह अब्दुल्लाह का निधन मध्य पूर्व की शांति के लिए क्षति है.

शाह अब्दुल्लाह कई हफ़्तों से फेफड़े के संक्रमण से पीड़ित थे.

शाह अब्दुल्लाह के सौतेले भाई 79 वर्षीय सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ अल साउद सऊदी अरब के नए बादशाह होंगे.

सऊदी शाही परिवार

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार