अब तक कितने अमरीकी राष्ट्रपति भारत आए ?

छह राष्ट्रपति इमेज कॉपीरइट US Embessy New Delhi

बराक ओबामा भारत के गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि बनने वाले पहले अमरीकी राष्ट्रपति हैं लेकिन वह भारत आने वाले छठे अमरीकी राष्ट्रपति हैं.

भारत आने वाले पहले अमरीकी राष्ट्रपति थे ड्वेट डी आइज़ेनहावर, जो 10 दिसंबर, 1959 को भारत पहुंचे थे. उस समय जवाहरलाल नेहरू भारत के प्रधानमंत्री थे.

आइज़ेनहावर ने भारतीय संसद में अपने संबोधन में विश्व के संदर्भ में 'ग्रेट अवेकनिंग' की बात करते हुए कहा था कि केवल नैतिकता पर आधारित क़ानून के चलते ही हम अपनी बड़ी से बड़ी आकांक्षाओं को ठीक से समझ सकते हैं.

रिचर्ड निक्सन

इमेज कॉपीरइट US Embessy New Delhi

अमरीका के 37वें राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन 1969 में भारत आए थे. वह राष्ट्रपति बनने के छह महीने बाद ही भारत आए थे. तब इंदिरा गांधी भारत की प्रधानमंत्री थीं.

एक पूर्व अमरीकी राजदूत डेनिस कूक्स ने अपनी किताब "इंडिया एंड द यूनाइटेड स्टेट्स: एस्ट्रेंज्ड डेमोक्रेसीस 1941-1991" में इसका ज़िक्र किया है.

उन्होंने लिखा है कि न तो इंदिरा और न ही निक्सन ने आपसी बातचीत में सौहार्द और गर्मजोशी दिखाई. निक्सन उसी दिन लाहौर के लिए रवाना हो गए थे.

जिम्मी कार्टर

इमेज कॉपीरइट US Embessy New Delhi

इसके नौ साल बाद, एक जनवरी 1978 में जिम्मी कार्टर भारत आए. उस समय भारत के प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई थे.

कार्टर उस समय हरियाणा के दौलतपुर गांव में भी गए थे. जब कार्टर की मां भारत में शांति दल स्वयंसेवक (पीस कोर्प्स वॉलंटीयर) के तौर पर काम करती थीं वह अक्सर दौलतपुर गांव के मुखिया के घर में मेहमान के तौर पर जातीं थीं.

कार्टर और उनकी पत्नी रोज़ालिन जब गांव में गए तो उन्होंने गांव को पहला टेलीविज़न सेट उपहार में दिया. उनके आने के बाद दौलतपुर गांव का नाम 'कार्टरपुर' पड़ गया.

बिल क्लिंटन

इमेज कॉपीरइट AP

बिल क्लिंटन मार्च 2000 में पांच दिवसीय दौरे भारत आए थे. उनके साथ उनकी बेटी चेल्सी क्लिंटन भी आईं थीं.

अपनी यात्रा के दौरान वह दिल्ली के अलावा आगरा, जयपुर, हैदराबाद और मुंबई भी गए थे. उस समय अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री थे.

संसद को दिए अपने भाषण में क्लिंटन ने भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत की वकालत की.

जॉर्ज डब्ल्यू बुश

इमेज कॉपीरइट AP

जॉर्ज डब्ल्यू बुश एक मार्च 2006 को अपनी पत्नी लॉरा के साथ भारत आने वाले पांचवें अमरीकी राष्ट्रपति बने.

वे निक्सन (23 घंटे) के बाद सबसे कम समय (60 घंटे) भारत में रहे. उस समय भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह थे.

उनकी यात्रा के दौरान भारत अपने नागरिक और सैन्य परमाणु सुविधाओं को अलग-अलग रखने के लिए सहमत हो गया. बुश दिल्ली के अलावा थोड़े समय के लिए हैदराबाद के एक विश्वविद्यालय भी गए.

बराक ओबामा

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमेरिका के पहले अश्वेत और 44वें राष्ट्रपति बराक ओबामा इससे पहले नवंबर 2010 में भारत आए थे. वह निक्सन के बाद अपने पहले कार्यकाल में भारत आने वाले दूसरे राष्ट्रपति हैं.

ओबामा अब दूसरी बार भारत आए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार